जागरण संवाददाता, कोलकाता : जादवपुर विश्वविद्यालय में गुरुवार को जिस तरह से केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो पर हमला किया गया, यह बंगाल में ही संभव है। अन्य किसी राज्य में ऐसा संभव नहीं है। भाजपा नेता मुकुल राय ने शुक्रवार को दिल्ली से लौटकर यह आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जादवपुर विश्वविद्यालय में केंद्रीय मंत्री पर हमले की घटना बंगाल में लोकतंत्र के असली चेहरे को दर्शाती है। उन्होंने राज्य की कानून-व्यवस्था पर चिंता प्रकट की। उल्लेखनीय है कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी इस घटना के बाद राज्य की कानून-व्यवस्था पर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में केंद्रीय मंत्री को अवैध रूप से रोक कर रखा गया। राज्यपाल ने घटना के दौरान मुख्यमंत्री, मुख्यसचिव एवं कुलपति को फोन किया था। वे खुद मौके पर पहुंच कर वहां से मंत्री को अपनी कार में बैठाकर बाहर निकाला। इसके लिए उन्हें करीब एक घंटे तक छात्र-छात्राओं के विरोध का सामना भी करना पड़ा। बाबुल को उग्र छात्रों ने करीब छह घंटे तक रोक रखा। इस दौरान उनके साथ मारपीट की गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप