जागरण संवाददाता, हावड़ा : लिलुआ में प्रतिबंधित शंटिंग गेट से नौकरी के लिए वर्कशाप जाते वक्त महिला रेल कर्मी ट्रेन के इंजन की चपेट में आ गई। हादसे में महिला के दोनों पैर कट गए। गंभीर अवस्था में उसे रेलवे अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सूत्रों के अनुसार शंटिंग गेट से कर्मचारियों के आने-जाने पर प्रतिबंध लगाने के लिए लिलुआ स्टेशन से वर्कशाप के बीच फुटओवर ब्रिज का निर्माण कराया गया है। इसके बावजूद अधिकांश कर्मचारी स्टेशन के डाउन प्लेटफार्म से कूदकर लाइन पार कर शंटिंग गेट से वर्कशॉप पहुंचते हैं। शुक्रवार को वर्कशाप के एमआर लिफ्टिंग शॉप में कार्यरत नीलिमा हेम्ब्रम (57) शंटिंग गेट के रास्ते ड्यूटी पर जा रही थी। न्यू पेंट शॉप विभाग के पास पहुंचते ही सिर पर छाता होने की वजह से वह शंटिंग कर रहे इंजन को देख नहीं पाई। इंजन की चपेट में आकर उसका एक पैर घुटने से तथा दूसरा पैर नीचे से कट गया। हादसे से कर्मचारियों में अफरा-तफरी मच गई। गंभीर रूप से घायल महिला को पहले लिलुआ रेलवे अस्पताल ले जाया गया। वहां से उसे हावड़ा के रेल आर्थोपेडिक अस्पताल स्थानांतरित कर दिया गया।

Posted By: Jagran