कोलकाता, जागरण संवाददाता। बेहला के सिद्धेश्वरी काली मंदिर के मुख्य पुजारी की लाश महिला दोस्त के घर संदिग्ध अवस्था में पंखे पर फंदे से लटकी मिली। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मृतक अधिकतर रातें अपनी महिला दोस्त के घर गुजारता था। पुलिस ने महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

सूत्रों के अनुसार पर्णश्री थाना अंतर्गत बेहला के 162/1 सिद्धार्थ भट्टाचार्य (47) सिद्धेश्वरी काली मंदिर का मुख्य पुजारी था। वह पत्‍नी गौतमी और दो पुत्रों के साथ रहता था। कई वर्ष पहले उक्त थाना क्षेत्र के रवींद्रनगर निवासी झूमा राय के साथ उसके संबंध हो गए थे। आरोप है कि सिद्धार्थ अधिकतर रातें झूमा के घर पर ही काटता था। गत रविवार रात करीब साढ़े दस बजे सिद्धार्थ उसके फ्लैट में गया था। वहीं पर उसने जमकर शराब पी थी। इसके बाद संदिग्ध अवस्था में पुजारी का शव पंखे में फंदे पर लटकता मिला।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए विद्यासागर अस्पताल भेज दिया। पुजारी की पत्‍नी  गौतमी ने झूमा और उसके बेटे पर हत्या करने का आरोप लगाया है। बताया कि झूमा ने ही फोन कर सिद्धार्थ को बुलाया था। इसके बाद ही उसकी मौत की सूचना मिल गई।

पुलिस ने आरोपित झूमा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके घर पहुंचने के बाद सिद्धार्थ ने शराब पी थी। इसके बाद छोटे बेटे के साथ उसका विवाद हो गया था। जब उसने सिद्धार्थ को बताया कि वह उसका ही पुत्र है तो वह गुस्से में आकर उससे ही भिड़ गया था। इसी बीच पालतू कुत्ता सिद्धार्थ को परेशान करने लगा तो उसने कुत्ते को लात मारकर बाहर कर दिया था। उसने इसका विरोध किया तो सिद्धार्थ के साथ उसका विवाद हो गया था। इसके बाद वह अपने छोटे पुत्र को साथ लेकर कुत्ते को खोजने चली गई थी।

आकर देखा तो दरवाजा अंदर से बंद था। पड़ोसियों को बुलाकर जब दरवाजा तोड़ा गया तो अंदर सिद्धार्थ की लाश लटक रही थी। संबंध में खींचतान को लेकर सिद्धार्थ की हत्या की गई या फिर उसने खुदकशी की पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप