राज्य ब्यूरो, कोलकाता। लोकल ट्रेन चलाने की मांग पर सोमवार को हावड़ा-बर्द्धमान मेन लाइन के पांडुआ स्टेशन पर लोगों ने स्टाफ स्पेशल ट्रेन रोककर विरोध जताया। सुबह सात बजे से 10 बजे तक अवरोध से मेन लाइन की ट्रेन सेवाएं बुरी तरह से प्रभावित हुईं। रेलवे अधिकारियों द्वारा आश्वासन दिए जाने के बाद ट्रेनों की आवाजाही बहाल हुई। यात्रियों का आरोप है कि स्टाफ स्पेशल ट्रेनों में यात्रा करने पर रेलवै पुलिस पकड़ रही है। पिछले ढाई महीने से लोकल ट्रेनें बंद होने से दैनिक जीवन पर काफी असर पड़ा है। जिस तरह पहले ट्रेनें चल रही थीं, उसी तरह रेलवे को फिर से लोकल ट्रेने चलानी होगी।

सोमवार सुबह सात बजे पांडुआ स्टेशन पर सैकडो़ लोगों ने डाउन मेन लाइन पर पहुंची स्टाफ स्पेशल ट्रेन को रोककर अवरोध करना शुरू कर दिया। इसके कारण आदिसप्तग्राम, बंडेल, चुंचुड़ा, चंदननगर, सेवड़ाफुली, श्रीरामपुर, रिसड़ा, कोन्नगर, उत्तरपाड़ा, बाली आदि स्टेशनों पर यात्रियों की भीड़ इकट्ठा हो गई। आरोप है कि पांडुआ स्टेशन पर चल रहे अवरोध के दौरान कुछ यात्रियों ने स्टाफ स्पेशल ट्रेन पर पत्थरबाजी भी की।

कोरोना प्रोटोकाल को दरकिनार करते हुए स्टेशन पर सैकड़ों यात्री एक-दूसरे से सटकर प्रर्दशन करते नजर आए। महिला यात्रियों का कहना है कि रेलवे बुकिंग काउंटर खोलकर टिकट देने की व्यवस्था करने के साथ आफिस टाइम में लोकल ट्रेनों की संख्या बढ़ाए, तब जाकर आम लोगों को यात्रा करने में सहूलियत होगी। दूसरी तरफ मगरा स्टेशन की अप मेल लाइन पर भी स्टाफ स्पेशल ट्रेन को रोककर यात्रियों ने विरोध जताया। 

Edited By: Priti Jha