कोलकाता, जागरण संवाददाता। वीरभूम जिले के सांईथिया में शराब पीने का विरोध करने पर असमाजिक तत्वों ने काली मंदिर पर हमला बोलकर तोड़फोड़ की। धारदार हथियार से लोगों पर भी हमला बोला गया जिसमें चार लोग जख्मी हो गए। हालात काबू करने पहुंचे ओसी का सिर फोड़ दिया गया।

पुलिस ने पूछताछ के लिए 20 लोगों को हिरासत में लिया है। तनाव के मद्देनजर इलाके में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। सूत्रों के अनुसार सांईथिया नगर पालिका के वार्ड 15 नजरूल पल्ली में स्थित दक्षिणा काली मंदिर परिसर में काफी दिनों से बाहरी युवक आकर शराब पीने के साथ ही गांजा आदि का नशा करते थे। सड़क पार स्थित वार्ड 16 नेताजी पल्ली के निवासी इसका विरोध करते थे जिससे बाहरी युवकों का वार्ड वासियों के साथ विवाद भी होता रहता था।

गत सोमवार रात एक बार फिर नजरूल पल्ली में असमाजिक तत्व शराब पीने बैठ गए थे जिसका नेताजी पल्ली के लोगों ने विरोध शुरू कर दिया था। आरोप है कि नजरूल पल्ली के कुछ लोग बाहरी युवकों के बचाव में उतर आए। इसको लेकर दोनों वार्डो के लोगों में तकरार भी हुई।

देर रात बदमाशों ने दक्षिणा काली मंदिर में हमला बोल दिया और जमकर तोड़फोड़ की। विरोध करने पहुंचे चार लोगों को धारदार हथियार से जख्मी कर दिया। सूचना पर फोर्स के साथ हालात काबू करने पहुंचे सांईथिया थाने के ओसी संजय श्रीवास्तव पर भी बदमाशों ने हमला बोल दिया गया जिसमें उनका सिर फूट गया। जबकि एसआई समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। इसके बाद सिउड़ी से अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाकर स्थिति को नियंत्रित किया जा सका। घायलों को अस्पताल भिजवाया गया।

इस मामले में 20 लोगों को हिरासत में लिया गया है। वीरभूम के एसपी कुणाल अग्रवाल ने घटना के बाबत कुछ भी कहने से इन्कार कर दिया। इलाके में तनाव के मद्देनजर पुलिस पिकेट को तैनात किया 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस