-कांग्रेस और माकपा पर भाजपा से मिलने का आरोप

-आतंक को बताया विपक्ष का दुष्प्रचार

राज्य ब्यूरो, कोलकाता: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि चुनाव जनता का लोकतांत्रिक अधिकार है, लेकिन विपक्षी दल चुनाव में भाग नहीं लेकर नाटक कर रहे हैं। भाजपा और अन्य विपक्षी दल 90 हजार उम्मीदवार उतारे हैं। इसके बावजूद आरोप लगा रहे हैं कि उन्हें नामांकन दाखिल नहीं करने दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने सोमवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सरकार 15 मई तक पंचायत चुनाव संपन्न कराना लेना चाहती थी। इसलिए कि मई के प्रथम सप्ताह से गर्मी पड़ने लगती है। उसके बाद बरसात का मौसम शुरू हो जाएगा। रमजान का महीना भी शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री कहा ने कि कोर्ट के फैसले पर वह कोई टिप्पणी नहीं करेंगी, लेकिन विपक्ष चुनाव में भाग नहीं लेकर नाटक कर रहा है। 58 हजार बूथों में मात्र सात जगहों पर कुछ गड़बड़ी हुई है। एक मीडिया इस बढ़ा-चढ़ा कर पेश करने में लगा है।

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस और माकपा पर भाजपा के साथ हाथ मिलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि माकपा और कांग्रेस दिल्ली में एक तरह की बात करती है और पश्चिम बंगाल में सरकार का विरोध करने के लिए भाजपा से मिल जाती है। उन्होंने कहा कि भाजपा दंगा करानेवाली पार्टी है। पूरे देश में लोग भाजपा को नापसंद कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि माकपा के हर्मद अब भाजपा के गुंडे बन गए हैं। 12 हजार किसान आत्महत्या कर चुके हैं। आम जनता के पैसे की लूट हुई है। उन्हें भाजपा से ज्ञान लेने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार को चुनाव आचार संहिता का पालन करना पड़ता है। वह दफ्तर आ रही हैं लेकिन सभी विकास कार्य ठप है। कोई नया विकास कार्य शुरू नहीं कर पा रही हैं।

By Jagran