कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर व उसके आसपास हुई बमबारी की घटना पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को आड़े हाथों लिया है।

विजयवर्गीय ने कहा कि टीएमसी, हिंसा की राजनीति का पर्याय है। उन्होंने कहा कि मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट (आदर्श आचार संहिता) लगने के बाद भी गुंडे यहां बमबारी कर रहे हैं और गोलियां बरसा रहे हैं। चुनाव आयोग को इसे चेतावनी के रूप में लेना चाहिए। वरना हमें संदेह है कि मतदान शांतिपूर्ण तरीके से नहीं हो पाएगा।

वहीं, सांसद अर्जुन सिंह ने आरोप लगाया कि हमलावर टीएमसी कार्यकर्ता थे। उन्होंने कहा कि करीब 15-20 बम चले हैं। बमबारी में तीन लोग घायल हुए हैं। घायलों में एक बच्चा, एक युवक और एक बुजुर्ग महिला शामिल है जिन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर के पास सिलसिलेवार बमबारी, तीन लोग घायल

बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है।बैरकपुर से भाजपा सांसद अर्जुन सिंह के घर समेत कुल 15 जगहों पर बुधवार देर रात बमबारी की घटना हुई है। पुलिस के अनुसार, बमबारी की इस घटना में एक बच्चा समेत तीन लोग घायल हुए हैं। घायलों में बच्चे के अलावा एक युवक और एक बुजुर्ग महिला शामिल है जिन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बमबारी के दौरान पुलिस द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरों को भी तोड़ा गया है। वहीं भाजपा ने इन हमलों के पीछे सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के गुंडों का हाथ बताया है। वहीं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल राय ने कहा कि वह इस घटना की शिकायत चुनाव आयोग से भी करेंगे।

जानकारी के मुताबिक जिन 15 जगहों पर बमबारी हुई है उनमें उत्तर 24 परगना जिले के बैरकपुर संसदीय क्षेत्र अंतर्गत भाटपारा इलाके में सांसद अर्जुन सिंह का घर भी शामिल है। सिंह के घर को भी निशाना बनाकर बमबारी की गई।लगभग 15 स्थानों पर बम फेंके गए। अर्जुन सिंह ने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने इसे अंजाम दिया है। सिंह ने कहा, “जिन लोगों ने बम मारा है उनके खिलाफ हम करीब 10 दिन से पुलिस को शिकायत कर रहे थे। ये लोग कई दिनों से बम-पिस्तौल लेकर घूम रहे थे लेकिन पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। आज उन्होंने वही काम किया जिसका हमें संदेह था। हम चुनाव आयोग जाएंगे।” वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव व बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने भी इस घटना की आलोचना करते हुए ममता सरकार पर हमला बोला।  

बम हमले में घायल हुए थे मंत्री जाकिर हुसैन

बता दें कि इससे पहले फरवरी में राज्य के मुर्शिदाबाद जिले में निमतीता रेलवे स्टेशन पर बम से किए गए हमले में राज्य के मंत्री जाकिर हुसैन गंभीर रूप से घायल हो गए थे। मंत्री के साथ मौजूद दो और लोग भी इस हमले में घायल हुए थे। श्रम राज्य मंत्री हुसैन स्टेशन के 2 नंबर प्लेटफॉर्म पर रात करीब 10 बजे कोलकाता जाने वाली ट्रेन का इंतजार कर रहे थे, तभी उन पर हमला हुआ। मंत्री को पैरों और पेट के निचले हिस्से में गंभीर चोटें आई थी।

Edited By: Priti Jha