राज्य ब्यूरो, कोलकाताः तृणमूल के कद्दावर नेता व सांसद कल्याण बनर्जी ने बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ का अपराधियों से संबंध होने का आरोप लगाते हुए पुलिस से उनके खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। इस विवादों के बीच कंप्यूटर ग्राफिक्स टीचर रिजवान-उर-रहमान की मौत मामले में आइपीएस अधिकारी ज्ञानवंत सिंह के खिलाफ चल रही जांच की रिपोर्ट राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से तलब की है। शुक्रवार को राज्यपाल ने ट्विटर पर दो पन्ने के पत्र पोस्ट कर यह मांग की है। 

अभी तक इस मामले में कोई ठोस कार्रवाई नहीं

उन्होंने पत्र में लिखा है कि 2008 में सुप्रीम कोर्ट के दिशानिर्देशों के मुताबिक हाईकोर्ट ने ज्ञानवंत सिंह के खिलाफ विभागीय जांच का निर्देश दिया था। 12 साल बीत चुके हैं लेकिन अभी तक इस मामले में ठोस कार्रवाई नहीं हुई। 

मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री से भी रिपोर्ट मांगी

चिट्ठी में राज्यपाल ने लिखा 18 अक्टूबर 2019 को उन्होंने राज्य के मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से भी रिपोर्ट मांगी थी लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। यह लोकतांत्रिक प्रक्रिया के विपरीत है और सीएम को यह बताना होगा कि आखिर इस मामले को दबाने की कोशिश क्यों कर रही हैं?

जानेमाने उद्योगपति की बेटी से प्रेम विवाह किया

बताते चलें कि रिजवान-उर-रहमान ने एक जानेमाने उद्योगपति की बेटी से प्रेम विवाह किया था। विवाह के एक माह बाद 21 सितंबर 2007 को रिजवान को दमदम इलाके में रेलवे पटरियों के समीप मृत पाया गया था। 

उद्योगपति व वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी आरोपी 

इस मामले में उद्योगपति के साथ-साथ कोलकाता पुलिस में काम कर रहे कुछ वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप लगे थे। उस समय विपक्ष में रहते ममता बनर्जी ने इस घटना को लेकर जमकर राजनीति की थी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप