जागरण संवाददाता, कोलकाता। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने गए पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के वहां के सेना प्रमुख बाजवा को गले लगाने के बाद उपजे विवाद पर भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने उनका बचाव किया है। यहां महानगर में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे सिन्हा ने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी दोनों ने पड़ोसी देश की यात्रा के दौरान अपने पाकिस्तानी समकक्षों को गले लगाया था। सिन्हा ने कहा कि सिद्धू ने खुद इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण दे दिया है और मुझे नहीं लगता है कि किसी भी विवाद के लिए कोई जगह है।

भाजपा के साथ मनमुटाव के सवाल पर बिहार के पटना साहिब से लोकसभा सदस्य शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि उन्होंने कभी भी भाजपा के खिलाफ नहीं बोला बल्कि पार्टी को 'आईना दिखाने' की कोशिश की है।

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता एवं पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया था। इस दौरान वह पाकिस्तान के सेना प्रमुख से गले मिले थे जिसको लेकर उनके विरोधी दल जमकर निशाना साध रहे हैं। सिद्धू पहले भाजपा में थे, लेकिन जनवरी 2017 में उन्होंने भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया।

शत्रुघ्न सिन्हा बोले, देश में लोकतंत्र का काफी पतन हुआ
भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने देश की मौजूदा लोकतांत्रिक स्थिति पर सवाल उठाए। अक्सर केंद्र की भाजपा सरकार के खिलाफ बोलने वाले सिन्हा ने मंगलवार को कहा कि भारत में लोकतंत्र का काफी पतन हुआ है। सिन्हा ने कहा कि उन्होंने जिन घटनाओं को देखा है, उनमें से कुछ वांछनीय नहीं थीं। यह (सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों द्वारा जनता में समस्याएं रखने की घटना) भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में पहली बार हुई। भाजपा सांसद ने कहा कि वे यह नहीं कह रहे हैं कि क्या सही है या गलत। स्थिति इस तरह कैसे हो गई कि वहां उन्हें (न्यायाधीशों) को बाहर जनता में आकर मीडिया से बात करनी पड़ी। सिन्हा मंगलवार को महानगर में कलकत्ता चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे थे।

इस दौरान उन्होंने कहा कि वे उक्त घटना के बारे में काफी दुखी महसूस कर रहे हैं। इसी बीच, जनता दल (यूनाइटेड) के राज्यसभा सांसद पवन कुमार वर्मा ने कहा कि देश में सबसे बड़ी पार्टी भाजपा है, लेकिन उसे अगले साल होने वाले आम चुनावों में अपनी सफलता को दोहराने में में कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। इस अवसर पर भाजपा सांसद रूपा गांगुली सहित अन्य वक्ता उपस्थित थे। सांसदों ने देश की मौजूदा अर्थ-व्यवस्था पर भी अपने विचार रखे।

 

Posted By: Sachin Mishra