राज्य ब्यूरो,  कोलकाता : बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी की प्रचंड जीत के बाद राज्य भर में भाजपा कार्यकर्ताओं की बर्बर तरीके से हत्या और महिला पोलिंग एजेंट के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है। महिलाओं के खिलाफ हिंसा के आरोप के मद्देनजर राष्ट्रीय महिला आयोग की प्रमु्ख रेखा शर्मा बुधवार को बंगाल आ रही हैं और वह टीम के सदस्यों के साथ पीड़ित महिलाओं से मुलाकात करेंगी।

बता दें कि बंगाल भाजपा ने दावा किया है कि बीरभूम जिले के नानूर से भाजपा उम्मीदवार तारक साहा की  पोलिंग एजेंट बनी दो महिला कार्यकर्ताओं से टीएमसी के लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया है। एक को अपहरण कर ले गए थे। इसके अलावा विधानसभा क्षेत्र के 12 गांवों में भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं के साथ शारीरिक उत्पीड़न और यौन शोषण की घटनाएं घटी हैं। नंदीग्राम से भाजपा के विधायक  सुवेंदु अधिकारी ने महिलाओं पर हमले की निंदा की है। भाजपा के एमपी सौमित्र खान ने इसे लेकर ट्वीट किया है। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी ट्वीट कर हिंसा की निंदा करते हुए ममता बनर्जी से कार्रवाई करने की अपील की है।

भाजपा कार्यकर्ताओं की बर्बर तरीके से हो रही है हत्या

-दूसरी ओर भाजपा के प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि एक दिन में भाजपा के नौ नेताओं-कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतारा गया है। इनमें से बेलियाघाटा के अभिजीत सरकार और सोनारपुर के हारन को बर्बर तरीके से पीट-पीटकर मौत के घाट उतारा गया है।हत्या से पहले अभिजीत सरकार ने फेसबुक लाइव किया था जिसमें तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा क्षेत्र में हिंसा के बारे में जानकारी दी थी। उसके 15 मिनट के बाद उन्हें पीट पीट कर मार डाला गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप