जागरण संवाददाता, कोलकाता। बंगाल में हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा। इस कड़ी में पिछले 24 घंटे में दो भाजपा नेताओं की हत्या किए जाने की घटनाएं प्रकाश में आई हैं। इन घटनाओं को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी आक्रोश है। हत्या का आरोप तृणमूल के बदमाशों पर लगाया गया है, जबकि तृणमूल ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, शनिवार की रात बीरभूम जिले के लाभपुर में एक भाजपा नेता की बम मारकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस के बदमाशों पर लगा है। लाश को कब्जे में लेने गई पुलिस का स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने जबरदस्त विरोध किया। आरोप है कि इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई भाजपा कार्यकर्ता जख्मी हो गए। दूसरी तरफ, तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि आपसी रंजिश में भाजपा नेता की हत्या की गई है।

दूसरी घटना दक्षिण 24 परगना के ढोलाघाट में घटी, जहां दो दिन से लापता भाजपा नेता की लाश रविवार सुबह कालनागिनी नदी से बरामद हुई। भाजपा नेता का नाम अब्दुल कादिर मुल्ला है। भाजपा का कहना है कि तृणमूल के बदमाशों ने उसकी हत्या कर लाश नदी में फेंक दी है, जबकि तृणमूल का कहना है कि इस घटना से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। दो भाजपा नेताओं की हत्या से राज्य की राजनीति में फिर सरगर्मी है। 

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप