-उन विधायकों को पार्टी में शामिल कराने का फैसला लेगा शीर्ष नेतृत्व

-दिल्ली में शोभन चटर्जी को भाजपा में शामिल कराने के बाद लौटे रॉय

जागरण संवाददाता, कोलकाता: भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुकुल रॉय ने एक बार फिर दावा किया है कि तृणमूल काग्रेस के 100 से अधिक विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। हालाकि, उन्होंने साफ किया है कि उन्हें पार्टी में शामिल करने या नहीं करने का फैसला पार्टी का शीर्ष नेतृत्व ही करेगा। दिल्ली में शोभन चटर्जी को भाजपा की सदस्यता दिलाने के बाद बंगाल लौटे मुकुल उत्तर 24 परगना के कांचरापाड़ा स्थित आवास पर मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

दरअसल, मुकुल रॉय का हाथ पकड़कर ही कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी अपनी महिला मित्र बैसाखी बनर्जी के साथ भाजपा में शामिल हुए हैं। शोभन के भाजपा में जाने के बाद तृणमूल ने एक बयान जारी कर कहा है कि इससे पार्टी को कोई नफा नुकसान होने वाला नहीं है। इसे लेकर भी मुकुल रॉय ने सवाल खड़ा किया। उन्होंने कहा कि शोभन चटर्जी को मनाने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से लेकर शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी और मेयर फिरहाद हकीम से लेकर तृणमूल के राज्य अध्यक्ष सुब्रत बक्शी तक लाइन लगाकर रखते थे, लेकिन जब शोभन भाजपा में चले गए तो कह रहे हैं कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। यह तृणमूल की हताशा है। मुकुल रॉय ने कहा कि इसी तरह तृणमूल के 100 से अधिक विधायक भाजपा की संपर्क में हैं। उल्लेखनीय है कि मुकुल रॉय लोकसभा चुनाव के बाद कई तृणमूल नेताओं को भाजपा में शामिल करा चुके हैं। हालाकि, इनमें से कुछ तृणमूल में फिर लौट गए हैं। इस वजह से उनकी कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे थे। यह भी आरोप था कि तृणमूल नेताओं को भाजपा में शामिल कराने से पहले वह पार्टी के प्रदेश नेतृत्व को भी विश्वास में नहीं ले रहे थे। अब शीर्ष नेतृत्व के सख्त रुख के बाद मुकुल के बोल बदल गए हैं। अब वह कह रहे हैं कि जिन्हें भी पार्टी में शामिल करना है उनका निर्णय नेतृत्व करेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप