-पीएम कहा, तीन चरण में भारी मतदान को देख ममता बनर्जी बौखला गई हैं

-23 के बाद बंगाल की अत्याचारी सरकार की उलटी गिनती शुरू

जागरण संवाददाता, बोलपुर : भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार को पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इलमबाजार की जनसभा से पश्चिम बंगाल की ममता सरकार पर तीखा प्रहार किया। कहा कि तीन चरण के मतदान की रिपोर्ट के बाद बंगाल की सिंडिकेट सरकार का सिंहासन डोलने लगा है। 23 मई के बाद बंगाल की अत्याचारी सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी। पीएम ने कहा कि भाजपा के समर्थन में भारी मतदान को देखते हुए ममता बनर्जी बौखला गई हैं जिसका परिणाम मंगलवार को हुए मतदान के दौरान हिंसा है। इस दफा लोकसभा चुनाव में फर्जी मतदान नहीं हो पाने की वजह से ममता बनर्जी चुनाव आयोग को ही गालियां दे रही हैं। बुधवार को वीरभूम और बोलपुर लोकसभा प्रत्याशी दूध कुमार मंडल और राम प्रसाद के समर्थन में जनसभा के मंच से पीएम मोदी ने कहा कि गुरुदेव रवींद्र नाथ टैगोर की भूमि शांतिनिकेतन को आज तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने अशांत कर दिया। बोलपुर में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं मगर तृणमूल सरकार इसमें रोड़ा बनी हुई है। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में इस लोकसभा चुनाव में अपना पहला वोट डालने वाले बेटा-बेटी दीदी की दादागिरी नहीं चाहते। युवा पीढ़ी तो सिर्फ भारत का विकास चाहती है। उन्होंने युवाओं से कहा कि इसलिए आपका चौकीदार विकास की दिशा में काम कर रहा है। मोदी ने कहा कि बंगाल के विकास में दीदी स्पीड ब्रेकर बनकर बैठ गई हैं। बिना रंगदारी (बांग्ला में तोलाबाजी) यहां पर कोई काम नहीं होता है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्रीय परियोजनाओं को दीदी बंगाल में अपने नाम से चला रही हैं। कहा कि बंगाल में भाजपाइयों पर जितना अत्याचार किया जाएगा उतना ही कमल खिलेगा। 23 मई के बाद ही सभी अत्याचार का हिसाब लिया जाएगा। पीएम ने कहा कि मुझे बंगाल को तृणमूल के अत्याचार से मुक्त कराना है। मोदी ने हाल ही में ममता बनर्जी द्वारा गत चार वर्षो में उनके विदेश यात्रा का मजाक उड़ाने के बयान पर भी कटाक्ष किया। कहा कि दीदी..इस चायवाले की वजह से ही दुनियाभर में भारत का डंका बज रहा है। इन्हीं विदेश यात्रा से भारत की आवाज दूसरे देशों में पहुंच रही है। आज भारत एक शक्ति के रूप में उबर रहा है। मोदी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि ममता दीदी ने तो सर्जिकल स्ट्राइक पर ही सवाल खड़े कर दिए थे। उन्होंने जनसभा में मौजूद जनसमूह से कहा कि ये आपके चौकीदार की ही सरकार है जिसने आतंकियों को उनके घर में घुसकर मारा। लेकिन विरोधी तो आतंकियों के समर्थन में ही आंसू बहा रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि दीदी तो बांग्लादेशी घुसपैठियों को शरण देने में लगी हुई हैं। केंद्र सरकार द्वारा गरीब तबकों के लिए शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना को ममता बनर्जी ने बंगाल में ताला मार दिया जिससे गरीब बेइलाज की रह गए। केंद्र सरकार पीएम किसान सम्मान योजना से पश्चिम बंगाल के किसानों के खाते में रुपये जमा कराना चाहती है मगर दीदी ने किसानों की सूची ही नहीं दी। इससे साफ है कि बंगाल सरकार गरीबों और किसानों की कितनी हितैषी है। बंगाल में रोजगार, शिक्षा नहीं बल्कि बम बनाने की ट्रेनिंग दी जाती है। यहां की आवाम सरस्वती पूजा, दुर्गा पूजा और रामनवमी डर कर मनाती है। बंगाल में घर बनाने एवं बेचने के लिए भी गुंडा टैक्स देना पड़ता है। उन्होंने कहा कि मुठ्ठी भर सीटों पर चुनाव लड़ने वाली ममता बनर्जी प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रही हैं। कहा कि मोदी को नीचा दिखाकर वोट की राजनीति करने वालों को जनता जवाब देगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप