राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल के हावड़ा जिले में एक दुस्साहसिक घटना सामने आई है। 10वीं कक्षा में पढ़ रही बेटी के साथ छेड़खानी कर रहे मनचलों से उलझना पिता को महंगा पड़ गया। छेड़खानी का विरोध करने पर मनचलों ने उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी। बेरहमी से पिटाई के चलते बुरी तरह जख्मी हालत में उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया।

मृतक का नाम गणेश मंडल (48) बताया गया है। यह घटना ग्रामीण हावड़ा के श्यामपुर थाना अंतर्गत नस्कर पाड़ा इलाके की है। शिकायत के बाद पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में एक आरोपित को गिरफ्तार किया है, जबकि दूसरा फरार है। पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपित सगे भाई हैं।

पुलिस घटना की जांच में जुटी है

घटना के बारे में बताया गया कि गणेश मंडल की बेटी रविवार रात कोचिंग करके साइकिल से घर लौट रही थी। उसी समय नस्कर पाड़ा में दो भाईयों ने उसका रास्ता रोक लिया और फब्तियां कसने लगे। नाबालिग ने इसका विरोध किया। वहीं, बेटी के साथ छेड़खानी की खबर मिलते ही गणेश भी वहां पहुंच गये और दोनों भाईयों को चेतावनी देते हुए अपने हरकतों से बाज आने के लिए कहा। यहीं से दोनों पक्षों के बीच बहस शुरू हुई।

आरोप है कि तभी दोनों भाईयों ने गणेश पर हमला बोलते हुए उनकी बेरहमी से पिटाई कर दी। गणेश वहीं पर अचेत होकर गिर पड़े। गंभीर हालत में गणेश को पहले ग्रामीण अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन स्थिति बिगड़ते देखकर उन्हें उलबेडि़या अनुमंडल अस्पताल रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

कई दिनों से परेशान कर रहे थे मनचले

पीडि़ता के अनुसार, उसके साथ छेड़खानी की यह घटना पिछले कई दिनों से चल रही थी। मनचले लगातार उसे परेशान कर रहे थे। रविवार रात को मनचलों ने उसका हाथ पकड़ लिया और साइकिल छीनने की भी कोशिश की। उसकी चीख-पुकार सुनकर ही पिता पहुंचे थे और उसे बचाने की कोशिश में उनकी जान चली गई।

इधर, इस घटना पर हावड़ा ग्रामीण की पुलिस अधीक्षक स्वाति भंगालिया ने कहा कि दो युवकों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। दोनों भाई हैं। एक आरोपित किल्टन बाग को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, दूसरे की तलाश जारी है। आरोपितों के खिलाफ पाक्सो एक्ट और हत्या से संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर पुलिस जांच में जुटी है।

यह भी पढ़ें: ‘हमें क्या देखना है हम सोचेंगे,सरकार नहीं’, BBC की बैन डाक्यूमेंट्री को शेयरकर लिखीं तृणमूल सांसद

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट