- भाजपा पर लगाया महिलाओं को अपमानित करने का आरोप

- जामिया मसले पर राज्यपाल की खामोशी पर साधा निशाना

जागरण संवाददाता, कोलकाता : राज्य की स्वास्थ्य राज्यमंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष के पाटूली में अभिनंदन यात्रा के दौरान युवती के विरोध पर आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने की निंदा की। साथ ही युवती के दिलीप घोष के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराए जाने पर उसे साहसी करार दिया। उन्होंने कहा कि अगर सियासत करनी ही है तो सभाएं कीजिए। इस राज्य में अभिनंदन यात्रा का कोई औचित्य नहीं है, क्योंकि हर ओर नागरिकता संशोधन कानून व राष्ट्रीय नागरिक पंजी के विरोध को लोग सड़क पर उतर प्रदर्शन कर रहे हैं। ऐसे में यहां भाजपा की कोई नाटक यात्रा नहीं चलेगी। आगे उन्होंने कहा कि इन्हें तो आंदोलन करना भी नहीं आता। आंदोलन तो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आम हित की रक्षा को करती हैं। हम रोटी की बात करते हैं और भाजपा जाति-धर्म के नाम पर लोगों को बांटने की। वहीं दिल्ली के जामिया विश्वविद्यालय में आरोपित गोपाल के बंदूक लहराने की घटना के लिए केंद्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए उन्होंने कहा कि एक शख्स सरेआम पुलिस के सामने बंदूक लिए गोली मारने की धमकी देता है और पुलिस कार्रवाई की जगह मूक दर्शक बन तमाशा देखती है, जो अपने आप में एक निंदनीय वाकया है। साथ ही मंत्री ने इसे सोची समझी रणनीति करार दिया। और तो और यहां प्रदेश भाजपा अध्यक्ष हर दिन छह फीट छोटा-बड़ा करने की धमकी देते हैं। वहीं राज्यपाल जगदीप धनखड़ पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हर मुद्दे पर बोलने वाले राज्यपाल आज जामिया के मसले पर क्यों नहीं जुबान खोल रहे हैं। हम बांटने की जगह रोजी रोटी की बात करते हैं। आगे उन्होंने कहा कि आगामी आठ मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर तृणमूल श्रद्धानंद पार्क से डोरिना क्रॉसिंग तक हंडा यात्रा निकाल चावल वितरण करेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी महिलाओं को सशक्त करने को काम करती हैं और भाजपा उन्हें अपमानित करने को।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस