राज्य ब्यूरो, कोलकाता: अभिनव तरीके से बैंक फ्राड का मामला सामने आया है और इस मामले में पुलिस ने शुक्रवार को मोस्टवांटेड कुख्यात अपराधी शेख बिनोद को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक 11 अपराधियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। पुलिस सूत्रों के अनुसार महानगर की सीआइटी रोड स्थित एक केंद्रीय बैंककी शाखा से धोखाधड़ी को अंजाम दिया जा रहा था। बड़े ही सुनियोजित तरीके से यह जालसाज लोगों के खाते से रुपये उड़ा रहे थे। इनमें से दो अपराधियों ने तो उसी शाखा में दो खाते भी खोल रखे थे जिसमें फर्जीवाड़े का सारा रुपये जमा होता था और बाद में उससे निकाल लिया जाता था। इस गिरोह में भी शेख बिनोद भी शामिल था। ये सभी करीब 45 लाख रुपये लोगों के खातों से निकाल चुके हैं।

ऐसे देता था ठगी को अंजाम 

पता चला है कि आरोपितों में से एक सरकारी बैंक का आउटसोर्स कर्मचारी है। उसकी ही मदद से ठगी का धंधा चल रहा था। ये लोग बैंक अधिकारियों की आइडी और पासवर्ड चुरा कर आम ग्राहकों के बैंक खातों से जुड़े मोबाइल नंबर और ई-मेल आइडी बदल देता था। ताकि लेन-देन की जानकारी असली खाता धारकों तक नहीं पहुंच सके। फिर उन खातों से रुपये निकाल लिया जाता था।

एक ग्राहक की शिकायत के बाद हुआ भंडाफोड़

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ समय से बैंक की उक्त शाखा में यह फर्जीवाड़ा चल रहा था। कुछ दिन पहले यह मामला बैंक के एक ग्राहक के संज्ञान में आया। उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद बैंक फ्राड निरोधी शाखा के अधिकारियों ने उक्त आरोपों के आधार पर जांच शुरू की तो फर्जीवाड़े का भंडाफोड़ हुआ। पहले चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया।

बाद में पुलिस ने तीन और को गिरफ्तार किया। उस वक्त पुलिस को शक था कि इस घटना में और भी कई लोग शामिल हो सकते हैं। इसका पता लगाने के लिए गिरफ्तार आरोपितों से समय-समय पर पूछताछ की गई। इसके बाद पुलिस ने इस गिरोह से जुड़े 11 लोगों को दबोच लिया। पहले से ही शेख बिनोद काल सेंटर के नाम पर आनलाइन ठगी समेत विभिन्न आरोपों में पुलिस की मोस्ट वांटेड सूची में शामिल था।

Edited By: Vijay Kumar