कोलकाता, जागरण संवाददाता। Metro Rail. महानगरवासियों को ईस्ट-वेस्ट के रूप में गुरुवार को दूसरी मेट्रो सेवा की सौगात मिल गई, लेकिन उद्घाटन समारोह में सीएम ममता बनर्जी का नाम आमंत्रण पत्र व मेट्रो रेलवे की ओर से जारी विज्ञापन में नहीं होने को लेकर राज्य व केंद्र में ठन गई है। हालांकि, तृणमूल के स्थानीय सांसद काकोली घोष दस्तीदार व विधायक तथा राज्य के मंत्री सुजीत बसु का नाम आमंत्रण पत्र व विज्ञापन में है। सीएम का नाम नहीं होने को लेकर विवाद गहरा गया है और तृणमूल ने तो इस कार्यक्रम का बहिष्कार करने की घोषणा कर दी है।

वहीं, तृणमूल व ममता सरकार की दलील है कि पूरी तरह से राज्य को अंधकार में रख कर उद्घाटन की योजना तैयार की गई। हालांकि मेट्रो रेलवे का कहना है कि उनके अधिकारी खुद राज्य सचिवालय नवान्न जाकर मुख्यमंत्री को आमंत्रित किए हैं। दरअसल नाराजगी की बड़ी वजह यह भी है कि उद्घाटन समारोह के लिए आमंत्रण पत्र में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का नाम तक शामिल नहीं किया गया है।

सूत्रों के मुताबिक, राज्य सरकार की ओर से न तो कोई मंत्री और ना ही कोई उच्च स्तरीय प्रशासनिक अधिकारी उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेगा। इस बीच मेट्रो रेलवे ने दावा किया दावा है कि उनके अधिकारी राज्य सचिवालय में जाकर मुख्यमंत्री को आमंत्रित किया था। मेट्रो रेलवे के अधिकारियों का कहना है कि रेल मंत्री पियूष गोयल के निर्देश पर बुधवार को राज्य सचिवालय नवान्न जाकर मुख्यमंत्री को आमंत्रित करने के लिए आमंत्रण पत्र दिया गया किया, जिसे वहां के सचिव ने स्वीकार भी किया था। इसके अलावा गुरुवार को भी फोन कर उन्हें आमंत्रित किया गया।

इधर, विपक्ष ने भी इस घटना की निंदा करते हुए असभ्य करार दिया है। इस बारे में माकपा नेता ने कहा कि राज्य में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री को ही आमंत्रित न किया जाए यह असभ्यता का प्रतीक है। इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। हम इसका समर्थन नहीं करते। उल्लेखनीय है कि ईस्ट वेस्ट मेट्रो के परियोजना के लिए जमीन की समस्या सामने आई थी। बाइपास के पास किसानों ने जमीन देने से इन्कार कर दिया था लेकिन शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम के मध्यस्थता के बाद बात बनी थी। वहीं उद्घाटन समारोह में मंत्री व कोलकाता मेयर फिरहाद हकीम को भी आमंत्रण नहीं मिला है। इसके विरोध में बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद और विधायक ने कहा कि वे लोग कार्यक्रम का बहिष्कार करेंगे।

मालूम हो कि उद्घाटन गुरुवार शाम रेल मंत्री पीयूष गोयल ने किया। प्रथम चरण में साल्टलेक सेक्टर पांच से साल्टलेक स्टेडियम के बीच 5.3 किमी तक पहली मेट्रो दौड़ेगी। स्वचालित अत्याधुनिक मेट्रो रैक को फिलहाल मोटरमैन द्वारा चलाया जाएगा। अब तक सड़क मार्ग से उक्त दूरी को तय करने में करीब डेढ़ घंटा लगता था, लेकिन मेट्रो के शुरू होने से यह सफर कुल 13 मिनट में पूरा होगा। छह कोच वाली यह नई अत्याधुनिक मेट्रो है। शुक्रवार से आम लोगों के लिए मेट्रो सेवा शुरू हो जाएगी।

यह भी पढ़ेंः साल्टलेक सेक्टर पांच से साल्टलेक स्टेडियम के बीच दौड़ेगी मेट्रो ट्रेन

 

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस