कोलकाता, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता के बड़िशा क्लब की दुर्गा प्रतिमा को संरक्षित करने का निर्देश दिया है। वहां देवी दुर्गा की प्रतिमा को प्रवासी महिला मजदूर के रूप में दर्शाया गया था, जो अपनी गोद में संतान को लिए हुई थी। मुख्यमंत्री ने कोरोना महामारी की वजह से यूं तो इस बार ज्यादातर पूजा पंडालों का वर्चुअली उद्घाटन किया था, लेकिन बड़िशा क्लब के पूजा पंडाल का उद्घाटन करने सशरीर पहुंची थीं। वहां की अभिनव दुर्गा प्रतिमा देखकर वे हैरान रह गई थीं।

इस दुर्गा प्रतिमा ने सबका ध्यान खींचा था और इसकी जमकर तारीफ हुई थी। सोशल मीडिया पर भी इसकी तस्वीरें खूब साझा की गई थीं। राज्य के शहरी विकास मंत्री व कोलकाता नगर निगम के प्रशासक फिरहाद हकीम ने बड़िशा क्लब की पूजा कमेटी के अधिकारियों को मुख्यमंत्री के निर्देश की जानकारी दी। इस दुर्गा प्रतिमा को थीम आर्टिस्ट रिंटू पाल के मार्गदर्शन में नदिया जिले के कृष्णनगर के मूर्तिकार पल्लव भौमिक ने तैयार किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रतिमा की पहले प्रदर्शनी लगाई जाएगी, उसके बाद उसे किसी आईलैंड में रखा जाएगा। उस आईलैंड से संलग्न जगह का नाम प्रतिमा के थीम के अनुसार रखा जाएगा। इस बाबत आईलैंड को चिन्हित करने का काम शुरू कर दिया गया है। रिंटू पाल का कहना है कि प्रतिमा को खुले आसमान के नीचे रखने पर धूप व बारिश से वह खराब हो सकती है इसलिए उसके लिए उपयुक्त शेड का इंतजाम करना जरुरी है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021