कोलकाता, जेएनएन। कविता व संगीत प्रेमी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बार दुर्गा पूजा का थीम सांग भी लिखा है। इसकी जानकारी मंगलवार को खेल और युवा कल्याण मंत्री अरूप विश्वास ने दी। सुश्री बनर्जी ने यह थीम सांग सुरुचि संघ पूजा कमेटी के लिए लिखा है, जिसे राज्य सरकार में मंत्री व गायक इंद्रनील सेन ने संगीतबद्ध किया है।

गौरतलब है कि सुरुचि संघ दुर्गापूजा का आयोजन मंत्री अरूप विश्वास द्वारा किया जाता है। पूजा पंडाल के उद्घाटन के दौरान ही थीम सांग को भी लांच किया जाएगा। मंत्री ने बताया कि राज्य की संस्कृति में इसे आगोमनी के नाम से जाना जाता है। देवी स्तुति के मुख्य मंत्री या देवी सर्व भूतेषु पर ही ममता बनर्जी का थीम सांग भी आधारित है। 

दुर्गा पूजा कमेटियों पर बरसी ममता, 28 करोड़ का तोहफा

दीदी आप लोगों के साथ हैं। सभी पूजा में शामिल हैं। संबोधन से पूर्व यह बातें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को नेताजी इनडोर स्टेडियम में दुर्गा पूजा आयोजकों की बुलाई गई बैठक के दौरान कही। साथ ही दुर्गा पूजा आयोजकों के लिए जमकर ममता बरसा दीं। मुख्यमंत्री ने एलान किया कि राज्य की छोटी-बड़ी करीब 28 हजार दुर्गा पूजा कमेटियों को 10-10 हजार रुपये अनुदान के रूप में दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोलकाता में करीब तीन हजार पूजा आयोजित होती है और विभिन्न जिलों में 25 हजार पूजा। राज्य में सभी 28 हजार पूजा कमेटियों को 10 हजार रुपये करके अनुदान दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोलकाता नगर निगम व कोलकाता पुलिस की ओर से महानगर के सभी तीन हजार पूजा कमटियों को दस-दस हजार रुपये दिए जाएंगे। वहीं, जिलों के दुर्गा पूजा आयोजकों को राज्य पुलिस, क्रेता सुरक्षा व पर्यटन विभाग संयुक्त रूप से दस-दस हजार रुपये देंगे। ममता दुर्गा पूजा आयोजकों के लिए और भी कई सुविधाओं की घोषणा की। उन्होंने कहा कि पहले बिजली विभाग द्वारा पूजा आयोजकों से लाइसेंसिंग फीस ली जाती थी, अब वह नहीं ली जाएगी। वहीं, अग्निशमन फीस भी नहीं वसूला जाएगी। बिजली दर में पहले जो 18 से 20 फीसद की छूट मिलती थी, उसे अब बढ़ा कर 20 से 23 फीसद कर दिया गया है। बैठक में राज्यभर के पूजा कमेटियों के अलावे पुलिस, अग्निशमन, बिजली समेत सभी संबंधित विभाग व मेयर मौजूद थे। जिसमें ममता ने कहा कि 19 से 22 अक्टूबर तक दुर्गापूजा की प्रतिमा का विसर्जन होगा और 23 अक्टूबर को रेड रोड में दुर्गापूजा कार्निवल आयोजित होगा। इस वर्ष 55 से 75 पूजा कमेटियां कार्निवल में भाग लेंगे।

मुख्यमंत्री ने भाजपा का नाम नहीं लेते हुए कहा कि एक पार्टी ऐसी है जो लोगों में भेद-भाव पैदा करती है। विभिन्न धर्म व समुदाय के लोगों में दंगा लगाने लगाना कुछ लोगों का काम है। मुख्यमंत्री ने उन्हें सतर्क करते हुए कहा कि ऐसे लोगों को आग से खेलने से बाज आना चाहिए। आग लगाना आसान है। लेकिन आग लगने के बाद उसे बुझाना बड़ा मुश्किल होता है। बंगाल में सभी धर्मों के लोग दुर्गोत्सव में भाग लेते हैं। यहां किसी को दंगा लगाने की छूट नहीं मिलेगी।

चुनावी हथकंडा: भाजपा

10 हजार अनुदान को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि यह चुुनावी हथकंडा है। क्योंकि, पिछले वर्ष विसर्जन रोक दी थी और अब वह रुपये बांट रही हैं। परंतु, हिंदू रुपये से बिकने वाला नहीं है। इमाम भत्ता के बाद अब पूजा कमेटियों को इसीलिए चंदा दे रही हैं कि 2019 में लोकसभा चुनाव है।

सांप्रदायिकता की प्रतियोगिता चल रही है: माकपा

माकपा नेता राबिन देव ने कहा कि बंगाल में सांप्रदायिकता की प्रतियोगिता चल रही है। भाजपा की तरह ही सांप्रदायिकता का कार्ड तृणमूल खेल रही है। दस हजार रुपये गिफ्ट देने का अर्थ क्या है।

भाजपा व तृणमूल दोनों ही ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही हैः कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि भाजपा व ममता दोनों ही ध्रुवीकरण की राजनीति कर रही है। इमाम भत्ता के बाद अब पूजा कमेटियों को रुपये बांट रही है। क्योंकि, अधिकांश पूजा आयोजकों में तृणमूल के नेता व मंत्री शामिल है।

Posted By: Sachin Mishra