कोलकाता, राज्य ब्यूरो। शिक्षक नियुक्ति घोटाले को लेकर सवालों में घिरीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र की भाजपा सरकार पर पलटवार करते हुए व्यापम घोटाले में मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री की गिरफ्तारी नहीं होने पर सवाल उठाया है। सोमवार को शिक्षक दिवस पर राज्य सरकार की तरफ से कोलकाता के विश्व बांग्ला मेला प्रांगण में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए ममता ने कहा- 'मध्य प्रदेश में इतना बड़ा व्यापम घोटाला हुआ, जिसकी वजह से 54 लोगों ने खुदकशी कर ली। उस घोटाले में वहां के शिक्षा मंत्री को गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया?'

पार्थ चटर्जी का परोक्ष रुप से किया बचाव

ममता ने शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी का पहली बार परोक्ष तौर पर बचाव करते हुए कहा- 'शिक्षक की नौकरी नहीं मिलने को लेकर कुछ उम्मीदवार सड़क पर आंदोलन कर रहे थे। मैंने जब तत्कालीन शिक्षा मंत्री से इसकी वजह पूछी तो उन्होंने कहा कि उनके नंबर योग्यता से कम हैं। चूंकि हमारी सरकार हमेशा दया दिखाती है इसलिए मैंने उनसे कहा था कि अगर हो सके तो नंबर बढ़ाकर उनके लिए व्यवस्था कर दीजिए।' ममता ने आगे कहा- 'निचले स्तर के लोगों के गलती करने पर दोष ऊपरी स्तर पर ही आता है। इसके अलावा काम करने पर गलतियां होंगी ही, उन्हें सुधारने का मौका दिया जाना चाहिए। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने कहा था कि भूल करना भी अधिकार है। पांचों उंगलियां समान नहीं होतीं। एक व्यक्ति के खराब होने पर सबको खराब कहना उचित नहीं है।'

89,000 शिक्षकों की होंगी नियुक्तियां

ममता ने इस अवसर पर 89,000 शिक्षकों की नियुक्तियां करने की घोषणा की। उन्होंने कहा- 'हम नौकरी देना चाहते हैं लेकिन कुछ लोग अदालत में जनहित याचिकाएं दायर कर इसमें बाधा डाल रहे हैं, जिससे प्रक्रिया में विलंब हो रहा है। हम अब तक स्कूल विंग में शिक्षण व गैर-शिक्षण पदों पर दो लाख 63 हजार नियुक्तियां कर चुके हैं। विश्वविद्यालयों में भी 10,000 शिक्षकों की नियुक्तियां की गई हैं।'

वाममोर्चा सरकार में हुए भ्रष्टाचार से संबंधित फाइलें गायब कर दी गईं

ममता ने कहा- 'वाममोर्चा सरकार के जमाने में हुए भ्रष्टाचार से संबंधित सभी फाइलें गायब कर दी गईं। हमें एक भी फाइल नहीं मिली जबकि हमारी सरकार के कामकाज की सभी फाइलें मौजूद हैं। वाममोर्चा के जमाने में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बहुत बड़ा घोटाला हुआ था।

Edited By: Sumita Jaiswal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट