कोलकाता, राज्य ब्यूरो। Cattle Smuggling Case: बंगाल में मवेशी तस्करी मामले में सीबीआइ (CBI) द्वारा बीते गुरुवार को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) के बाहुबली नेता अनुब्रत मंडल (Anubrata Mandal) उर्फ केष्टो की गिरफ्तारी के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) रविवार को इस प्रकरण पर पहली बार बोलीं। अनुब्रत मंडल के समर्थन में उतरीं ममता ने भाजपा व केंद्र पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि केष्टो (अनुब्रत) जैसे लोग केंद्रीय एजेंसी से डरने वाले नहीं हैं। उसे जेल में रखकर कुछ नहीं होने वाला है। एक केष्टो को पकड़ने पर लाखों केष्टो सड़कों पर तैयार होंगे।

कहा, 2024 में नहीं आएंगे मोदी

शिक्षक भर्ती घोटाले में हाल ही में गिरफ्तार पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी के विधानसभा क्षेत्र बेहला पश्चिम में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित सभा में ममता ने सवाल किया कि केष्टो को क्यों गिरफ्तार किया गया? उसने क्या अपराध किया है? उन्होंने कहा कि जितनी बार भी चुनाव हुए हैं, केष्टो को आपने घर पर नजरबंद करके रख दिया। केष्टो को हम सांसद और विधायक बनने के लिए बोले, लेकिन वह तैयार नहीं हुआ। राज्यसभा के लिए भी नहीं राजी हुआ। केष्टो को कुछ नहीं चाहिए था। ममता ने कहा कि यह भाजपा की साजिश है कि पहले बदनाम करो, फिर गिरफ्तारी। ममता ने यह भी आरोप लगाया कि गिरफ्तारी से पहले केष्टो के घर पर मध्यरात्रि में केंद्रीय बलों को ले जाकर तांडव मचाया गया था। ममता ने इस दौरान सभा में मौजूद तृणमूल कार्यकर्ताओं से यह भी कहा कि कल यदि सीबीआइ मेरे घर आती है तो आप आंदोलन के लिए तैयार रहें। ममता ने कहा कि भाजपा 2024 में नहीं जीतेगी और मोदी (Modi) फिर से नहीं आएंगे।

मवेशी तस्करी रोकना बीएसएफ का काम

ममता ने अनुब्रत की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए कहा कि जिस आरोप में उसे पकड़ा गया है, वह मवेशी उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे राज्यों से सीमा तक पहुंचते हैं। तस्करी रोकने की जिम्मेदारी बीएसएफ की है। बीएसएफ केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन है, जिसके मंत्री अमित शाह हैं। फिर शाह व बीएसएफ को क्यों नहीं पकड़ा जा रहा है।

झारखंड के विधायकों को 10-10 करोड़ में खरीदा जा रहा था

ममता ने हाल में झारखंड कांग्रेस के तीन विधायकों की नोटों के साथ बंगाल से गिरफ्तारी को लेकर भी केंद्र को घेरा। विधायकों की खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि झारखंड में भी सरकार गिराने की साजिश थी। 10-10 करोड़ रुपये में विधायकों को खरीदा-बेचा जा रहा था, लेकिन हमने यहां रंगे हाथों पकड़ लिया। झारखंड को बचा लिया। उन्होंने सवाल किया कि क्या इस मामले में ईडी या सीबीआइ जांच हुई है।

'हर घर तिरंगा' अभियान पर कसा तंज

ममता बनर्जी ने स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 'हर घर तिरंगा' अभियान पर तंज कसते हुए कहा-'मैं जन्म से ही तिरंगा फहराती आई हूं। उनसे (पीएम मोदी) यह सीखने की जरुरत नहीं है। मैं अपनी इच्छा से तिरंगा फहराऊंगी।

भाजपा का पलटवार, डर गई हैं ममता

इधर, अनुब्रत का बचाव करने पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने पलटवार करते हुए कहा कि ममता बनर्जी डर गई हैं। मुख्यमंत्री को डर है कि अनुब्रत सच्चाई न उगल दे, इसलिए वह बचाव कर रही हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि तृणमूल में केष्टो जैसे हजारों चोर तो पहले से हैं। वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने भी कहा कि ममता बनर्जी चोरों की वकालत कर रही हैं, जो दुर्भाग्यपूर्ण हैं।

Edited By: Sachin Kumar Mishra