जागरण संवाददाता, कोलकाता । मां फ्लाईओवर पर एक बार फिर पतंग की डोर से दुर्घटना का मामला प्रकाश में आया है। इस हादसे में एक चिकित्सक गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। चिकित्सक का नाम सैकत चौधरी है। वह एसएसकेएम अस्पताल में कार्यरत है। इस घटना के बाद बाइक चालकों में दहशत का माहौल है। जानकारी के मुताबिक, रविवार को एसएसकेएम अस्पताल से मुकुंदपुर जाने के क्रम में मां फ्लाईओवर से गुजर रहे एक बाइक सवार हादसे का शिकार हो गया। इस हादसे में पेशे से चिकित्सक गंभीर रूप से जख्मी हो गया।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि फ्लाईओवर से गुजरते वक्त पतंग की डोर से वह बुरी तरह घायल हो गए। किसी तरह उन्होंने बाइक को संभालते हुए सड़क के किनारे किया। पतंग की डोर से गला कटने की वजह से काफी खून निकल रहा था। जिसके बाद वह घंटों रुमाल से गले को दबाए हुए सड़क के किनारे खड़े रहे। वहां से गुजर रहे एक अन्य बाइक सवार की जब नजर उनपर पड़ी तो उसने इस घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने चिकित्सक को एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया।

जहां उनका का इलाज रहा है। गौरतलब है कि मां फ्लाईओवर पर इससे पहले एक इंजीनियरिंग का छात्र भी पतंग की डोर से गला कटने की वजह से बुरी तरह जख्मी हो गया था। उसके बाद इसी फ्लाईओवर पर बाइक से गुजरते वक्त हावड़ा निवासी समर मजूमदार भी पतंग की डोर से गला कटने की वजह से उसकी मौत हो गई थी। इस घटना के बाद प्रशासन ने पार्क सर्कस इलाके में चीनी पतंग की डोर पर निगरानी के लिए एक पीकेट तैयार की थी। बावजूद इसके कोई लाभ नहीं हुआ। वहीं, इस घटना के बाद बाइक सवार काफी आतंकित हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस