कोलकाता, जागरण संवाददाता पश्चिम बंगाल में भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच चल रहा सियासी संग्राम खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। आज भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल सरकार के खिलाफ कोलकाता में प्रदर्शन किया। इस दौरान बिपिन बिहारी गांगुली स्ट्रीट पर कोलकाता पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले फेंके। 

पुलिस मुख्यालय की तरफ बढ़ रहे कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने पानी की बौछार भी की। इस दौरान दोनों पक्षों में ईंट-पत्थर भी जमकर चले। पूरे कोलकाता शहर में सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ता जय श्री राम के नारे भी लगा रहे हैं।

 पुलिस मुख्यालय लालबाजार अभियान को लेकर रणक्षेत्र बना कोलकाता 

पश्चिम बंगाल की टीएमसी सरकार के विरोध में बुधवार को भारतीय जनता पार्टी की ओर से पुलिस मुख्यालय लालबाजार का घेराव किया गया। हजारों पुलिसवालों को तैनात किया गया है, इसके बावजूद दोपहर 1 बजे भाजपा की कुछ महिला समर्थक लालबाजार के समक्ष पहुंच गयीं। इसके अलावा कई जगहों पर भाजपा समर्थकों ने पुलिस बैरिकेड तोड़ दिया। पुलिसवालों पर ईंट-पत्थर भी बरसाये गये।

पुलिस ने स्थिति बिगड़ते देख आंसू गैस के गोले दागे और वाटर कैनन छोड़ा। आधे घंटे बाद यानी 1.30 बजे राजा सुबोध मल्लिक स्क्वायर से जुलूस निकला, जिसका नेतृत्व भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, मुकुल रॉय, दिलीप घोष, अर्जुन सिंह सहित विभिन्न नेताओं ने किया।

भाजपा का जुलूस जैसे ही लालबाजार की ओर बढ़ा, भाजपा समर्थक उग्र हो गये, पुलिस बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की। इसे लेकर पुलिस और भाजपा  में विवाद हो गया। पुलिस ने भीड़ को तितर- बितर करने के लिए वाटर कैनन का प्रयोग किया।सबसे पहले फीयर्स लेन में पुलिस बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की गयी। कई भाजपा समर्थक बैरिकेड पर चढ़ गये थे। पुलिस ने स्थिति बिगड़ते देख आंसू गैस के गोले भी दागे।

भाजपा नेता कैलाश विजय वर्गीय ने कहा कि बंगाल की पुलिस सीएम ममता बनर्जी के नेतृत्व में बर्बर हो गयी है। जुलूस पर अचानक टीयर गैस और वाटर कैनन छोड़े गये। कई भाजपा के कार्यकर्ता घायल हो गये हैं.भाजपा नेता राजू बनर्जी बीमार हो गये हैं।

भाजपा का आरोप है कि राज्य में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा रही है और पुलिस निष्क्रिय बनी हुई है। इसके खिलाफ पार्टी कार्यकर्ता कोलकाता पुलिस मुख्यालय का घेराव करेंगे। लालबाजार अभियान को लेकर हंगामे की आशंका के मद्देनजर मध्य कोलकाता में 3000 पुलिस कर्मी तैनात किये गये हैं। ड्रोन कैमरे लगाये हैं।वाटर कैनन भी तैनात किये गये हैं। लालबाजार पुलिस मुख्यालय के चारो ओर सड़कों को सील कर दिया गया है।

जानकारी हो कि कल ममता बनर्जी ने कोलकाता में कॉलेज स्ट्रीट के स्कूल ग्राउंड में समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा का अनावरण किया था। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान 14 मई को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान भाजपा और तृणमूल कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई थी। इसमें विद्यासागर की प्रतिमा खंडित हो गई थी। दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर मूर्ति तोड़ने का आरोप लगाया था। अब उसी जगह यानी की कोलकाता के विद्यासागर कॉलेज में नई मूर्ति लगाई गई है।

जानकारी हो कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कल भी मोदी सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि बंगाल को गुजरात में बदलने के लिए योजना बनाई जा रही है। उन्होंने कहा था मैं राज्यपाल का आदर करती हूं लेकिन हर पद की अपनी संवैधानिक सीमा होती है। बंगाल को बदनाम किया जा रहा है। अगर आप बंगाल और उसकी संस्कृति को बचाना चाहते हैं तो साथ आएं। बंगाल को गुजरात में बदलने के लिए योजना बनाई जा रही है। बंगाल गुजरात नहीं है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha