कोलकाता, राज्य ब्यूरो। पश्चिम बंगाल में हैम रेडियो ऑपरेटर कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर लगाए गए राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन के दौरान सामूहिक समारोहों पर नज़र रख रहे हैं तथा ट्रैकिंग में पुलिस की मदद कर रहे हैं। गुरुवार को कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विभिन्न जिलों की पुलिस को लाइसेंस प्राप्त एमेच्योर रेडियो ऑपरेटरों से स्पॉट और सामाजिक समारोहों के लिए इनपुट मिले हैं, जहां सामाजिक सभाएं हो रही हैं। यह सूचनाएं 21 दिन के लॉक डाउन के दौरान उन लोगों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई करने में मदद कर रही है। हैम ऑपरेटरों के पास केंद्रीय संचार मंत्रालय द्वारा विशिष्ट रेडियो फ्रीक्वेंसी के तहत इस तरह के संचार का संचालन करने के लिए लाइसेंस हैं। पश्चिम बंगाल एमेच्योर रेडियो क्लब के सचिव अंबरीश नाग बिस्वास ने कहा कि करीब 280 हैम ऑपरेटर्स चौबीसों घंटे सामाजिक समारोहों के स्थानों पर नज़र रख रहे हैं और लोगों की मदद कर रहे हैं, जो बंद के दौरान संकट में हैं। बिस्वास ने कहा, "पुलिस के साथ चर्चा के बाद, हमने एक हेल्पलाइन नंबर खोला है और सामाजिक समारोहों के क्षेत्रों को ट्रैक करने के लिए अपने नेटवर्क का उपयोग कर रहे हैं। एक श्रृंखला है जिसके माध्यम से नेटवर्क काम कर रहा है। नेटवर्क के माध्यम से अपनी गतिविधियों के बारे में विस्तार से बताते हुए, बिस्वास ने कहा कि दार्जिलिंग को छोड़कर प्रत्येक जिले में लगभग 10-12 हैम रेडियो ऑपरेटर हैं।बिस्वास ने कहा कि ऑपरेटर अपने स्थानीय नेटवर्क का उपयोग अपने इलाके में सामाजिक समारोहों या जहां-तहां बेवजह घूमने वाले लोगों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए करते हैं। वे अपनी सत्यापित जानकारी पश्चिम बंगाल रेडियो क्लब को भेजते हैं। जैसे ही हमें संदेश मिलता है, हम स्थान के विवरण के साथ विशिष्ट जिला पुलिस नियंत्रण को सूचित करते हैं। पुलिस नियंत्रण कक्ष इस क्षेत्र में और उसके आसपास गश्त करने वाली वैन को रेडियो संदेश देता है और तुरंत कार्रवाई की जाती है।मंगलवार शाम को राज्य भर में हैम रेडियो ऑपरेटरों द्वारा लगभग 60 मामलों को इकट्ठा किया गया और लगभग 17 आवारा लोगों को बचाया गया और आश्रय भेजा गया। इस सप्ताह की शुरुआत में हैम रेडियो ऑपरेटरों ने उत्तर 24 परगना के सोदपुर इलाके में अपने घर में अकेली रहने वाली एक बुजुर्ग महिला को बचाने में पुलिस की मदद की थी। आपदा प्रबंधन मंत्री जावेद खान ने इस पहल का स्वागत किया, लेकिन लॉकडाउन का उल्लंघन रोकने के लिए सामुदायिक परामर्श पर जोर दिया। पुलिस ने कहा कि लॉकडाउन दिशानिर्देशों का उल्लंघन करने के लिए सोमवार शाम से कोलकाता में 1,800 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया।

 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस