कोलकाता, राज्य ब्यूरो। महानगर में बारिश हो और जलजमाव ना हो ऐसा नहीं हो सकता है। इधर कोलकाता नगर निगम निकासी व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिये पूरे वर्ष ही काम करता है लेकिन समस्या जस की तस बनी रहती है। सबसे अधिक समस्या उत्तर कोलकाता में रहने वाले लोगों को होती है। ऐसे में उत्तर कोलकाता की समस्या को दूर करने के लिये प्रशासक दल के सदस्य तारक सिंह ने उच्च स्तरीय बैठक की है। बैठक के बाद उन्होंने बताया कि उत्तर कोलकाता का ड्रेनेज नेटवर्क सही नहीं है। केएमसी के निकासी विभाग की टीम ने सर्वे किया है जिसके बाद यह समस्या सामने आई है। सबसे अधिक समस्या सब्जी बगान इलाके में है। ऐसे में इन इलाकों की समस्या का निदान कोलकाता नगर निगम की पहली प्राथमिकता है। तपसिया इलाके में 9 करोड़ रुपये खर्च कर पम्पिंग स्टेशन तैयार किया जा रहा है ताकि तपसिया इलाके में जलजमाव की समस्या को खत्म किया जा सके।

बिजली की उचित सप्लाई ना होने से कई पंपिंग स्टेशन बंद

प्रशासक दल के सदस्य तारक सिंह ने बताया कि कई इलाकों में बिजली की उचित सप्लाई नहीं होने के कारण कई पंपिंग स्टेशन बंद पड़े हुए हैं। ऐसे में पानी को बाहर निकालने में काफी समस्या आ रही है।​ बिजली की उचित व्यवस्था हो सके इसके लिये प्रशासक फिरहाद हकीम से बात हुई है। जल्द ही केएमसी के सभी पंपिंग स्टेशन को सुचारू रूप से शुरू करने की व्यवस्था की जा रही है।

यादवपुर यूनिवर्सिटी के एक्सपर्ट की मदद लेगा केएमसी

कैनल की क्षमता को बढ़ाने के लिये कोलकाता नगर निगम ने यादवपुर यूनिवर्सिटी के एक्सपर्ट की सलाह लेने का निर्णय लिया है। यह एक्सपर्ट टीम कैनल की क्षमता को बढ़ाने के लिये सलाह देगी।

Edited By: Babita Kashyap