राज्य ब्यूरो, कोलकाता। दिल्ली और मुंबई दौरे से वापस लौटीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के एक दिन के नेपाल दौरे पर जाने की संभावना है। मुख्यमंत्री को 11 दिसंबर को काठमांडू में नेपाली कांग्रेस के वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करने का निमंत्रण मिला है। इसके लिए मुख्यमंत्री कार्यालय ने केंद्र से अनुमति मांगी है। नेपाली कांग्रेस का वार्षिक सम्मेलन 10, 11 व 12 दिसंबर को आयोजित होगा। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने सभा को संबोधित करने के निमंत्रण पर अपनी सहमति दे दी है, लेकिन उनकी यात्रा केंद्र से मंजूरी मिलने पर निर्भर है। सूत्रों के अनुसार, मंजूरी मिलने पर ममता बनर्जी 12 दिसंबर को काठमांडू से ही गोवा जाएंगी। ममता का 13 दिसंबर को अभिषेक बनर्जी के साथ गोवा में कार्यक्रम है। गोवा विधानसभा चुनाव में टीएमसी ने चुनाव लड़ने का ऐलान किया है और पूरी तैयारी कर रही है।

मुख्यमंत्री कार्यालय के सूत्रों ने पुष्टि की कि ममता काठमांडू जाने की इच्छुक हैं और उन्होंने कार्यक्रम के आयोजकों को सूचित किया है, लेकिन उन्हें इसके लिए केंद्र सरकार से मंजूरी लेने की जरूरत है। राज्य सरकार ने उन्हें काठमांडू जाने की अनुमति देने के लिए केंद्र को पत्र लिखा है।  कुछ महीने पहले ममता बनर्जी को रोम आने का निमंत्रण मिला था, जिसे केंद्र ने कोविड को लेकर अनुमति नहीं दी थी। हाल में ममता ने दिल्ली और मुंबई का दौरा किया था। दिल्ली में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात के अलावा विपक्ष के कई नेताओं से भी मुलाकात की थी। मुंबई में ममता ने उद्योगपतियों, नागरिक समाज के सदस्यों से मुलाकात की थीं। नेपाली कांग्रेस का वार्षिक सम्मेलन, साथ ही एनसीपी प्रमुख शरद पवार से भी मुलाकात की थीं। 

गौरतलब है कि बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और कांग्रेस के बीच सियासी जंग जारी है। टीएमसी ने शुक्रवार को फिर देश की सबसे पुरानी पार्टी पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि वह डीप फ्रीजर में चली गई है। ऐसे में विपक्षी ताकतें खालीपन को भरने के लिए अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर देख रही हैं। विभिन्न राज्यों में कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं को अपने पाले में ला रही टीएमसी ने अपने मुखपत्र जागो बांग्ला में कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से लड़ने के लिए प्रतिबद्ध है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra