राज्य ब्यूरो, कोलकाता। Coronavirus: अब कोरोना संक्रमण को लेकर बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता सरकार सवाल उठाए हैं। रविवार को राज्यपाल ने ट्वीट किया कि वे इंतजार कर रहे हैं कि बंगाल सरकार के अधिकारी या फिर खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सूबे में कोरोना की स्थिति को लेकर जानकारी नहीं दे रही हैं।

राज्यपाल ने आगे लिखा है कि पूरी दुनिया कोरोना महामारी के खिलाफ एकजुट होकर लड़ रही है। हमें एक साथ खड़ा होने की जरूरत है। इस महामारी से बचाव के लिए प्रधानमंत्री की कोशिशें पूरी दुनिया में सराही जा रही हैं। मैं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से गुजारिश करता हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कोशिशों के साथ भागीदार बनें। यह राष्ट्र हित में होगा। अभी तक मुख्यमंत्री अथवा अधिकारी कोरोना महामारी की स्थिति को लेकर मुझे कुछ नहीं बताया है। नियमानुसार प्रतिदिन राज्य के हालात के बारे में राज्यपाल को जानकारी दिए जाने का नियम है।

मुख्यमंत्री को चाहिए कि वे राज्यपाल को हालात से अवगत कराएं। अगर उन्हें इसकी फुर्सत नहीं है तो कोई भी अधिकारी इस बारे में राज्यपाल को जानकारी दे सकता है। कुछ दिनों पहले राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपील की थी कि राज्य में कोरोना वायरस के हालात के बारे में उन्हें जानकारी दी जाए, लेकिन आज तक ऐसी कोई जानकारी नहीं दी गई है। 

कोरोना संकट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आठ अप्रैल को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में तृणमूल कांग्रेस के सांसद हिस्सा नहीं लेंगे। इसको लेकर बंगाल में एक बार फिर सियासत गरमा गई है। प्रदेश भाजपा के नेताओं ने इसको लेकर सत्तारूढ़ तृणमूल की तीखी आलोचना की है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने कहा कि कोरोना महामारी को लेकर जब पीएम सभी दलों के साथ चर्चा करना चाहते हैं, ऐसे समय में भी तृणमूल राजनीति करने से बाज नहीं आ रही है। उन्होंने कहा कि पहले भी कई मौकों पर तृणमूल ने केंद्र व पीएम द्वारा बुलाई गई बैठक में हिस्सा नहीं लिया है, लेकिन इस समय वह जो कर रही है वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस