सिलीगुड़ी, जागरण संवाददाता । राज्य के पर्यटन मंत्री गौतम देव ने कहा है कि शहर के 45 नंबर वार्ड में रहने वाले, कोविड-19 से दिवंगत हुए शिक्षक संजीव महतो के पीड़ित परिवार की राज्य सरकार हरसंभव मदद करेगी। खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उक्त परिवार पर बीते हादसे को लेकर मर्माहत हैं और उन्होंने ही परिवार की देखभाल करने व उसका पूरा सहयोग करने का निर्देश दिया है। उसी के तहत मैंने इस दिन नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एनबीएमसीएच) जा कर वहा के अधिकारियों से बातचीत कर पूरी वस्तुस्थिति की जानकारी ली। अभी दिवंगत शिक्षक की पत्नी व दोनों बच्चियों की अवस्था स्थिर है। उनका एनबीएमसीएच में इलाज चल रहा है।

डॉक्टरों को पूरी तत्परता से बेहतर से बेहतर इलाज करने को कहा गया है। दिवंगत शिक्षक की पत्नी के सिर में बाहरी गहरी चोट है। वहीं पाव की एंड़ी टूटी हुई है। इसके साथ ही उनकी दोनों बच्चियों में छोटी बच्ची का हाथ व पाव काटा गया है। जबकि दूसरी बच्ची का हाथ अलग किया गया है। उनको सेप्टीसीमिया न हो इसका पूरा ख्याल रखने को कहा गया है। इधर, तीनों का कोविड-19 टेस्ट करवाया गया। उसमें दिवंगत शिक्षक की पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। मगर, दोनों छोटी-छोटी बच्चियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उनकी बेहतर से बेहतर कोविड-19 चिकित्सा करने को भी कहा गया है। पहले, इन सभी को एक नìसग होम में भर्ती कराया गया था। उसके बाद एनबीएमसीएच में अभी इन सब का इलाज चल रहा है। इस परिवार पर जो हादसा गुजरा है उससे खुद मुख्यमंत्री मर्माहत हैं और उन्होंने परिवार की पूरी देखभाल करने को कहा है। इस पीड़ित परिवार का पश्चिम बंगाल राज्य सरकार की ओर से पूरा पूरा सहयोग किया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि गत छह जुलाई को शिक्षक संजीव महतो की कोविड-19 से मौत हो गई। उसके गहरे सदमे में दो दिन बाद ही उनकी पत्नी ने अपनी दोनों बच्चियों समेत एनजेपी स्टेशन पर जाकर वहा के फूट ओवर ब्रिज से कूद कर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। जिसमें मा व दोनों बच्चिया गंभीर रूप से चोटिल हुई थीं। उन्हें पहले एक नìसग होम में भर्ती कराया गया। उसके बाद एनबीएमसीएच में ले जाया गया। जहा उनका इलाज जारी है। राज्य सरकार ने इस पीड़ित परिवार की पूरी पूरी मदद करने की बात कही है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस