राज्य ब्यूरो, कोलकाता। कलकत्ता हाई कोर्ट की अनुमति के बाद कड़े कोरोना प्रोटोकाल के साथ गंगासागर मेला चल रहा है। गंगासागर के फेरी घाटों पर पहुंच रहे तीर्थयात्रियों व साधु- संन्यासियों से सख्ती से शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने को जा रहा है। पुलिस एवं स्वयंसेवकों की तरफ से गंगासागर में जगह-जगह मास्क वितरित किए जा रहे हैं।

कपिल मुनि मंदिर को दमकल विभाग की तरफ से क्षर रोज सैनिटाइज किया जा रहा है। गंगासागर में लाउडस्पीकर के जरिए कोरोना से बचाव के प्रति जागरूकता फैलाई जा रही है। राज्य व पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी इस समय गंगासागर में तैनात हैं। गंगासागर के दो नंबर स्नान घाट से किसी को भी समुद्र में जाकर स्नान करने की अनुमति नहीं दी जा रही है। कपिल मुनि मंदिर में शारीरिक दूरी के नियम का बेहद कड़ाई से पालन करते हुए दर्शन-पूजन करने दिया जा रहा है। बिना मास्क किसी को भी मंदिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है। मंदिर के पुजारी भी मास्क पहनकर पूजा-अर्चना करवा रहे हैं। तीर्थयात्रियों की थर्मल चेकिंग भी की जा रही है। तमाम व्यवस्था के बावजूद राज्य प्रशासन भीड़ कम करने के लिए ई-पूजा व ई-दर्शन पर ही जोर दे रहा है।

गंगासागर मेले में आना न पड़े, इस बाबत आनलाइन दर्शन की व्यवस्था की गई है। गंगासागर का पानी भी आनलाइन बुकिंग करने पर घर-घर पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है। कलकत्ता हाई कोर्ट की अनुमति के बाद कड़े कोरोना प्रोटोकाल के साथ गंगासागर मेला चल रहा है। गंगासागर के फेरी घाटों पर पहुंच रहे तीर्थयात्रियों व साधु- संन्यासियों से सख्ती से शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने को जा रहा है। पुलिस एवं स्वयंसेवकों की तरफ से गंगासागर में जगह-जगह मास्क वितरित किए जा रहे हैं। गंगासागर मेला गत आठ जनवरी से शुरू हुआ है और आगामी 16 जनवरी तक चलेगा। 13 जनवरी से गंगासागर में भीड़ बढ़ने की संभावना है। 

Edited By: Priti Jha