कोलकाता, जागरण संवाददाता। महानगर में साइबर क्राइम की वारदातें दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है। इस बीच साल्टलेक के प्रगति मैदान इलाके में नकली काल सेंटर की आड़ में विदेशी नागरिकों से करोड़ों रुपये की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में लाल बाजार के साइबर क्राइम शाखा की पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। उनकी पहचान अनवारुल मोल्ला, मो. साहिल कुरैशी, मो. आमिरुल हक और अख्तर आलम के रूप में हुई है। इसके साथ ही इनके पास से कई अत्याधुनिक गैजेट्स व एक मर्सडीज कार बरामद हुई है। चारों अभियुक्तों से पूछताछ की जा रही है। इन लोगों के जरिए पुलिस इस रैकेट के सरगना तक पहुंचना चाहती है।

जानकारी के मुताबिक, महानगर में आठ महीने पहले काल सेंटर के नाम पर आरोपितों ने एक फर्जी कंपनी खोली थी। जहां से लोगों को ठगने का काम होता था। इन लोगों पर फर्जी कंपनी की आड़ में विदेशी नागरिकों से लगभग दो करोड़ रुपये (मिली शिकायत के आधार पर) ठगने का आरोप है। चारों साफ्टवेयर अपडेट और एंटी वायरस इंस्टाल के नाम पर लोगों को अपने जाल में फंसाते थे। बाद में उनसे रुपये की मांग करते थे। मामले से संबंधित एक अधिकारी ने बताया कि, किसी को शक ना हो इसके लिए चारों वाट्सएप के द्वारा लोगों को अपने जाल में फंसाते थे।

वाट्सएप वायस काल के जरिए विदेशी नागरिकों से संपर्क करते थे। जहां वे विभिन्न कार्यो का हवाला देते हुए विदेशी नागरिकों से रुपये ऐंठते थे। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कई दिनों से साइबर क्राइम शाखा में इस तरह की धोखाधड़ी का मामला आता रहता था। जिसमें आस्ट्रेलिया, कनाडा, अमेरिका और अन्य कई देशों से विभिन्न शिकायत दर्ज कराई जाती थी। उन्होंने आगे बताया कि अब तक मिली शिकायत के आधार पर चारों ने विभिन्न लोगों से लगभग दो करोड़ रुपये की ठगी है। आशंका जताई जा रही है कि यह आंकड़ा बढ़ भी सकता है।

शिकायतकर्ताओं में ज्यादातर महिलाएं और बुजुर्ग शामिल हैं। शिकायत मिलने के बाद से ही साइबर क्राइम शाखा की पुलिस इन लोगों की तलाश में थी। इस बीच गोपनीय सूचना के आधार पर छापामारी करते हुए पुलिस ने प्रगति मैदान इलाके से चार लोगों को गिरफ्तार किया। छापामारी में उनके पास से कई आधुनिक गैजेट्स बरामद हुए है। इन गैजेट्स के द्वारा ही आरोपित ठगी के काम को अंजाम देते थे। इसके साथ ही उनके पास से एक मर्सडीज कार भी बरामद हुई है। जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है। फिलहाल, पूरे मामले की जांच कर रही है। इसके साथ ही इस नेटवर्क से जुड़ें अन्य लोगों की तलाश में जुट गई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस