राज्य ब्यूरो, कोलकाता। कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी ने तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व राज्य के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी के आवास पर जाकर मुलाकात की, जिसके बाद उनके अगले राजनीतिक कदम को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया है। पार्थ चटर्जी की 91 वर्षीय मां का रविवार को निधन हो गया था। पूर्व तृणमूल नेता शोभन चटर्जी ने विधानसभा चुनाव के समय भाजपा छोड़ दी थी। वह सोमवार शाम तृणमूल कांग्रेस के महासचिव के आवास पर पहुंचे और अपनी संवेदना प्रकट की। शोभन चटर्जी अपनी दोस्त बैशाखी बनर्जी के साथ वहां गए थे।

शोभन ने कहा, ‘‘यह शिष्टाचार मुलाकात थी। मैं उस मानसिकता का नहीं हूं कि किसी की मां का निधन हो जाए और मैं वहां राजनीति पर चर्चा करूं।’’ तृणमूल कांग्रेस में लौटने की संभावना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह ऐसी चर्चा का स्थान नहीं है। उल्लेखनीय है कि मुकुल रॉय के तृणमूल में वापस लौटने के बाद कई नेता घर वापसी की कवायद में जुटे हैं। ऐसे में इस मुलाकात को भी इसी से जोड़कर देखा जा रहा है। इससे पहले पूर्व मंत्री राजीब बनर्जी ने भी पार्थ चटर्जी की मां के निधन की खबर के बाद रविवार को ही उनके घर पर जाकर संवेदना जताई थी।

राजीब के तृणमूल में लौटने को लेकर अटकलें काफी तेज है। इससे पहले हाल में उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के राज्य महासचिव कुणाल घोष से भी मुलाकात की थी। हालांकि पार्टी में शामिल करने को लेकर उनका काफी विरोध हो रहा है।

राजीब के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस के कई सांसद व मंत्री विरोध में उतर आए हैं। हावड़ा के डोमजूर विधानसभा क्षेत्र, जहां से इस बार राजीब को हार का सामना करना पड़ा, वहां उनके खिलाफ जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं। इसमें उनकी घर वापसी का विरोध करते हुए उन्हें गद्दार बताया गया है। सोमवार को तृणमूल कार्यकर्ताओं ने यहां सड़क अवरोध करके राजीब का पुतला भी फूंका था। उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव से ठीक पहले राजीब तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए थे। 

Edited By: Priti Jha