राज्य ब्यूरो, कोलकता। बंगाल के हुगली जिले के पांडुआ थाना क्षेत्र के चौहट्टा गांव में एक पूर्व सैनिक ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान स्वपन कुमार विश्वास (57) के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि सपन सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) से 12 साल पहले सेवानिवृत्त हुए थे। इसके बाद उन्होंने कुछ समय तक कोलकाता में एक गैर सरकारी बैंक में सुरक्षा गार्ड के रूप में काम किया। घरवालों का कहना है पिछले दो साल से वे घर में ही बैठे थे। जिसके कारण उनकी माली हालत भी काफी खराब थी।

स्वपन की दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी की हाल ही में शादी हुई थी। उसके बाद से वह मानसिक रूप से अवसाद ग्रस्त थे। स्वजनों का कहना है कि माली हालत खराब होने के चलते स्वपन को रात में नींद नहीं आती थी। इन दिनों वे नींद की गोली भी खाया करते थे। बताया गया कि इस बीच शुक्रवार की रात अचानक जब उनकी तबीयत खराब हुई तो पत्नी अंजना ने इलाज के लिए पांडुआ अस्पताल ले जाने की व्यवस्था की। डॉक्टर को दिखाने के बाद स्वपन घर लौट कर भोजन करने के बाद दूसरी मंजिल पर सोने चले गए। फिर देर रात अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर उन्होंने कथित रूप से आत्महत्या कर ली।

अचानक देर रात गोली चलने की आवाज सुनकर पत्नी जब ऊपर गई तो पति को खून से लथपथ अवस्था में फर्श पर पड़ा देखा। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से अंजली तुरंत पति को पांडुआ ग्रामीण अस्पताल ले गई, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पुलिस का कहना है स्वपन ने अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोली मारकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली है। पुलिस इस घटना की जांच कर रही है। पत्नी अंजलि का कहना है कि छोटी बेटी की विवाह को लेकर भी स्वपन काफी चिंतित थे। 

Edited By: Priti Jha