राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में कोयला तस्करी मामले के मुख्य आरोपित अनूप माजी उर्फ ​​लाला के करीबी चार कारोबारियों को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पूछताछ के लिए तलब किया है। कुछ महीने पहले सीबीआइ ने जयदेव मंडल, नारायण नंदा, गुरुपद माजी और नीरद मंडल नाम के इन चार कारोबारियों को गिरफ्तार किया था। सूत्रों ने बताया कि चारों को अगले सप्ताह ईडी के दिल्ली मुख्यालय में तलब किया गया है। उनसे पूछताछ में ईडी के हाथ कई महत्वपूर्ण तथ्य लगने की संभावना है, जो जांच को आगे ले जा सकते हैं। अरबों रुपये की कोयला तस्करी मामले की जांच में सामने आया है कि इसमें राज्य पुलिस का एक वर्ग और कुछ प्रभावशाली लोग शामिल हैं। चारों कारोबारियों पर कोयले की तस्करी से मिले रुपये के एक हिस्से को पुलिस अधिकारियों व प्रभावशाली लोगों तक पहुंचाने का आरोप है।

ईडी इस मामले में कई पुलिस अधिकारियों से पूछताछ कर चुका है। तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व डायमंड हार्बर से पार्टी सांसद अभिषेक बनर्जी से भी पूछताछ हो चुकी है। उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी को भी ईडी ने पूछताछ के लिए अपने दिल्ली मुख्यालय में तलब किया था, लेकिन उन्होंने यह कहते हुए इन्कार कर दिया था कि कोरोना के समय उनका कोलकाता से दिल्ली जाना संभव नहीं हो पाएगा। इसे लेकर भी दिल्ली हाई कोर्ट में मामला चल रहा है। सूत्रों ने बताया कि इस मामले में अभिषेक के करीबी सुमित राय को भी पूछताछ के लिए नोटिस भेजकर दिल्ली बुलाया गया था। सुमित ने इसके खिलाफ कलकत्ता हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। मामले पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने निर्देश दिया था कि छह हफ्ते तक सुमित को गिरफ्तार नहीं किया जा सकेगा।

गौरतलब है कि कोयला के अवैध खनन व तस्करी कांड मे प्रभावशालियों के राज उगलने वाले दो अहम आरोपित सीबीआइ की प्रारंभिक पूछताछ के बाद से फरार है। सीबीआइ उक्त दोनों आरोपितों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर लगातार छापेमारी कर रही है। साथ ही सीबीआइ ने एक बार फिर तृणमूल महासचिव अभिषेक बनर्जी की पत्नी रूजिरा बनर्जी के खातों को लेकर थाइलैंड प्रशासन से संपर्क साधा है। कोयला तस्करी कांड की सीबीआइ के साथ-साथ ईडी भी जांच कर रही है। इस मामले में अभिषेक बनर्जी को पूछताछ के लिए तलब करने से पहले सीबीआइ अपना सारा होमवर्क पूरा करना चाहती है जिससे उसपर किसी तरह के कोई इल्जाम ना लग सके। अपनी इसी कवायद के तहत सीबीआइ ने मामले के मास्टरमांइड और कोयला तस्करी का सरगना अनूप मांजी उर्फ लाला के खासमखास सहयोगी नीरज और अमित पर अपना शिकंजा कसा था।

Edited By: Sachin Kumar Mishra