राज्य ब्यूरो, कोलकाता। पूर्वी अफ्रीका का सबसे बड़ा देश द रिपब्लिक ऑफ तंजानिया का नया कांसुलेट ऑफिस कोलकाता में खोला गया। इस मौके पर तंजानिया के कोलकाता में नवनियुक्त आनररी कांसुल व सिंघानिया एंड सन्स प्राइवेट लिमिटेड के एमडी प्रदीप कुमार सिंघानिया ने कहा कि इससे कोलकाता वासियों व तंजानिया के लोगों को काफी लाभ मिलेगा। पर्यटन व व्यवसाय के क्षेत्र में काफी नये आयाम अब देखने को मिलेंगे। शेक्सपीयर सरणी के डकबैक हाउस में आयोजित इस कार्यक्रम में तंजानिया के हाई कमिश्नर बराका एच लुवांडा तथा नतिहिका एफ. मसूया ने कहा कि यह तंजानिया के लिए भी गर्व की बात है कि कोलकाता में हमारा कांसुलेट कार्यालय खुला है।

वहां की वाइल्ड लाइफ काफी आकर्षित करेगी बंगाल के लोगों को

बंगाल के लोग घूमने के काफी शौकीन है। तंजानिया में अपार सांस्कृतिक और प्राकृतिक संपदा है। माउंट किलिमंजारो एक निष्क्रिय ज्वालामुखी है जो पूरे साल स्नो कैप के साथ रहती है, यह बेहद आकर्षक है। विक्टोरिया झील जो तंजानिया के केंद्र में स्थित है, दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ताजा झील है और अफ्रीका की सबसे बड़ी झील है। तंजानिया में कई बड़े वन्यजीव पार्क हैं। इनमें ग्रेट सेरेनगेटी और नागोरोंगोरो क्रेटर बेहद खास हैं, जिन्हें ईडन गार्डन के रूप में भी जाना जाता है जो तंजानिया के 15 नेशनल पार्कों में से हैं।

व्यावसायिक दृष्टिकोण से भी खास

तंजानिया के पास सोने, हीरे, लोहा, कोयला, तंजानाइट, रत्न और प्राकृतिक गैस के महत्वपूर्ण भंडार के साथ एक विशाल प्राकृतिक संसाधन है। तंजानिया की मुख्य फसलों जैसे तंबाकू, कॉफी, काजू, चाय, लौंग, कपास आदि के पौधा के लिए कृषि प्रसंस्करण तंजानिया की रीढ़ हैं। देश में महत्वपूर्ण स्वर्ण भंडार है और यह अफ्रीका में चौथा सबसे बड़ा उत्पादक है। वहीं मेडिकल कारणों से काफी लोग तंजानिया से भारत में आते हैं। कांसुलेट कार्यालय के उद्घाटन के मौके पर सिंघानिया एंड सन्स प्राइवेट लिमिटेड की एडमिनिस्ट्रेटर निशा सिंघानिया, डिप्टी डायरेक्टर करण सिंघानिया, जर्मनी के कांसुल जनरल मनफ्रेड औस्टर, ब्राजील के कोलकाता में ऑनररी कांसुल प्रदीप खेमका, फिलिपिंस के ऑनररी कांसुल जनरल दीपक कुमार खेमका तथा हेड ऑफ ब्रांच सेक्रेटरियेट, विदेश मंत्रालय, कोलकाता के अरूप साहा सहित कई गन्यमाण्य मौजूद थे।

Edited By: Babita Kashyap