राज्य ब्यूरो, कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भाजपा में लौटे मुकुल राय की विधानसभा सदस्यता दलबदल विरोधी कानून के तहत रद किए जाने के मामले पर स्पीकर बिमान बनर्जी अगले शुक्रवार को सुनवाई करने वाले हैं। मुकुल फिलहाल दिल्ली में मुख्यमंत्री व तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी के साथ हैं। दिल्ली से मुख्यमंत्री की वापसी सुनवाई वाले दिन है। कृष्णानगर उत्तर से विधायक मुकुल दिल्ली से मुख्यमंत्री के साथ ही लौटेंगे इसलिए हो सकता है कि मुकुल शुक्रवार को सुनवाई में हिस्सा न ले सके। सुनवाई शुक्रवार को अपराह्न 3 बजे निर्धारित की गई है।

दूसरी तरफ भाजपा ने सुनवाई को लेकर अपनी रणनीति तैयार करनी शुरू कर दी है। इस बीच बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने स्पीकर को पत्र लिखकर सुनवाई में कल्याणी से पार्टी विधायक व अधिवक्ता अंबिका राय को उपस्थित होने की अनुमति देने के लिए कहा है।

विधानसभा सूत्रों के मुताबिक अभी तक अनुमति नहीं मिली है। गौरतलब है कि मुकुल को विधानसभा की लोक लेखा समिति का अध्यक्ष बनाए जाने के खिलाफ मंगलवार को भाजपा विधायक अंबिका राय ने कलकत्ता हाईकोर्ट में मामला दायर किया था। स्पीकर के सामने पहली सुनवाई में मुकुल और सुवेंदु आमने-सामने नहीं हुए थे क्योंकि मुकुल उस दिन पहले ही विधानसभा पहुंचे थे और स्पीकर से मुलाकात कर चले गए थे। विपक्ष के नेता ने सुनवाई में भाग लिया था।

शुक्रवार को सुनवाई से पहले दोपहर 12 बजे लोक लेखा समिति की बैठक होनी है। मुकुल के उसमें भाग लेने पर भी संशय है क्योंकि वे दिल्ली में हैं। विधानसभा सचिवालय के सूत्रों के अनुसार अध्यक्ष के अनुपस्थित रहने पर भी अन्य सदस्य उस बैठक को आयोजित कर सकते हैं। समिति में शामिल भाजपा विधायक बैठक में शामिल नहीं होने की पहले ही घोषणा कर चुके हैं, हालांकि गेरुआ शिबवर के विधायक विधानसभा की एक अन्य समिति की बैठक में शामिल होंगे। 

Edited By: Priti Jha