राज्य ब्यूरो, कोलकाता। कोरोना वायरस से बचाव के प्रति फेसबुक पर जागरूकता फैलाने के लिए आयोजित किए गए लाइव सेशन के दौरान एक डॉक्टर फफक- फफक कर रो पड़े। उन्होंने कहा कि वे खुद को जलता हुआ महसूस कर रहे हैं। यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें डॉक्टर अनिर्बाण बिश्वास लोगों से अपील कर रहे हैं कि कोरोना के शुरुआती लक्षण नजर आने पर वे तुरंत इसकी जांच कराएं इसके बाद वे रोने लगते हैं और हाथ जोड़कर लोगों से अपील करते हैं कि कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी किए गए समस्त स्वास्थ्य दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन करें।

डॉ. बिश्वास ने आगे कहा कि उन्हें ऐसा लग रहा है, मानों बुरी तरह से जल रहे हैं। उन्हें नहीं पता कि यह स्थिति कब तक जारी रहेगी। डॉ विश्वास ने कहा कि इस बार कोरोना की स्थिति पिछले साल की तुलना में कहीं ज्यादा बुरी है। मरीजों का ठीक तरीके से इलाज नहीं हो पा रहा। यह देखकर काफी बुरा लग रहा है। डॉक्टर बिस्वास अपने वीडियो में लगातार दोहरा रहे थे कि लोगों की जान न बचा पाने का बेहद दुख हो रहा है।

देश कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है। लोग मदद की गुहार लगा रहे हैं, तो स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को अलग तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले एक साल से डॉक्टर और स्वास्थ्य कर्मी जीवन और मौत के बीच अपने फर्ज को अंजाम दे रहे हैं, लेकिन उनके सीने में भी छुपा दर्द अब फूट-फूट कर बाहर आ रहा है। 

ऐसा पहली बार नहीं है कि किसी डॉक्टर ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से अपील करते हुए अपनी व्यथा सुनाई है।  इससे पहले भी कई डॉक्टरों ने सोशल मीडिया के जरिए अपनी कहानी सुनाई है। गौरतलब है कि बंगाल में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना संक्रमितों का दैनिक आंकड़ा 20, 000 को पार कर गया है। रोजाना 100 से भी अधिक मौतें हो रही हैं।