राज्य ब्यूरो, कोलकाता। उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन अगले सप्ताह फिर बंगाल के दौरे पर आएंगे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उनके अगले बुधवार अथवा बृहस्पतिवार को कोलकाता पहुंचने की संभावना है। बंगाल के मतदाताओं की अंतिम सूची 15 जनवरी को प्रकाशित होने वाली है। उप चुनाव आयुक्त सूबे के अपने पिछले दौरे के समय समस्त जिलाधिकारियों व मतदाता सूची तैयार करने के काम से जुड़े लोगों को जरुरी निर्देश देकर गए थे।

दिल्ली लौटने के बाद भी वे वहां से इसकी जानकारी ले रहे थे ताकि किसी तरह की त्रुटि न रह जाए। इसी मतदाता सूची के आधार पर बंगाल में अगला विधानसभा चुनाव होना है। जैन ने विशेष निर्देश देते हुए कहा था कि किसी भी मतदाता का नाम तालिका में छूटना नहीं चाहिए। सूत्रों ने बताया कि अपने इस दौरे में उप चुनाव आयुक्त बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति की खास तौर पर समीक्षा करेंगे।

गौरतलब है कि पिछले दौरे के समय बंगाल के विरोधी राजनीतिक दलों ने इस मसले को उप चुनाव आयुक्त के सामने जोर-शोर से उठाया था। जैन एक बार फिर समस्त जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों व राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी आरिज आफताब के साथ बैठक करेंगे। दिल्ली लौटकर वे अपनी रिपोर्ट चुनाव आयोग के पास जमा करेंगे। उस रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद ही चुनाव आयोग की पूर्ण पीठ बंगाल के दौरे पर आएगी।  

इस बीच ऐसी भी खबर है कि आगामी चार मई से सीबीएसइ की परीक्षा आरंभ होने के मद्देनजर इस बार बंगाल विधानसभा चुनाव समय से कुछ पहले शुरू हो सकता है। पिछले पंचायत चुनाव के दौरान हुई भारी हिंसा एवं कोरोना की मौजूदा स्थिति को देखते हुए इस बार आठ चरणों में विधानसभा चुनाव कराए जाने की भी संभावना है। 2016 में बंगाल विधानसभा चुनाव चार अप्रैल से शुरू हुआ था।

उस समय सात चरणों में 19 मई तक मतदान हुए थे यानी मतदान से लेकर मतगणना की संपूर्ण प्रक्रिया में डेढ़ महीने से अधिक समय लगा था। इस बार मार्च के मध्य से चुनाव शुरू हो सकता है। परीक्षा शुरू होने के बाद माइक बजाने की अनुमति नहीं होगी। ऐसे में मतदान समय से पहले शुरू कराना होगा। कयास लगाए जा रहे हैं कि फरवरी में ही विधानसभा चुनाव की घोषणा हो सकती है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021