जागरण संवाददाता, हावड़ा : पुलिस के अत्याचार के विरोध में टैक्सी चालकों ने सोमवार को हावड़ा स्टेशन प्री-पेड टैक्सी बूथ के सामने घंटों प्रदर्शन किया। यह विरोध-प्रदर्शन दोपहर 12 बजे से शुरू हुआ जो ढाई घंटे तक चला। वेस्ट बंगाल टैक्सी ऑपरेटर्स को-आर्डिनेशन कमेटी (एआइटीयूसी) द्वारा आयोजित इस विरोध प्रदर्शन में काफी संख्या में टैक्सी चालक शामिल होकर पुलिसिया जुल्म के खिलाफ आवाज बुलंद किए। एटक के प्रदेश महासचिव उज्ज्वल चौधरी, वेस्ट बंगाल टैक्सी ऑपरेटर्स को-आर्डिनेशन कमेटी के संयोजक व नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रोड ट्रासपोर्ट वर्कर्स (एआइटीयूसी) के सचिव नवल किशोर श्रीवास्तव, दिलीप गांगुली, अरूप मंडल मुनेश्वर वर्मा सहित अन्य श्रमिक नेताओं ने सभा को संबोधित करते हुए पुलिस के बर्ताव का विरोध किया। श्रीवास्तव ने कहा कि बार-बार पुलिस प्रशासन का ध्यानाकृष्ट करने के बावजूद चालकों पर पुलिस का अत्याचार नहीं थम रहा। प्रशासन का रवैया असहयोगपूर्ण है। इसलिए पूर्व घोषणा के तहत 15 नवंबर से टैक्सी चालकों का बहिष्कार आंदोलन शुरू होगा। इसके तहत चालक हावड़ा के लिए टैक्सी सेवा ठप कर देंगे। श्रीवास्तव ने कहा, समस्या का समाधान नहीं होने तक यह आंदोलन जारी रहेगा। समस्या एवं आंदोलन से पुलिस आयुक्त को पहले ही अवगत कराया गया है, लेकिन कोई पहल नहीं हुई, इसलिए चालक बहिष्कार आंदोलन पर जाने के लिए बाध्य हैं। उन्होंने कहा कि इस दौरान यात्रियों को परेशानी होने पर पुलिस प्रशासन जिम्मेवार होगा। उक्त विरोध-प्रदर्शन में प्री-पेड टैक्सी बूथ के चालकों ने भी हिस्सा लिया। श्रीवास्तव ने कहा कि पुलिस प्रशासन की धमकियों की परवाह किए बिना टैक्सी चालकों ने इस आंदोलन में डटकर हिस्सा लिया। संगठन का आरोप है कि हावड़ा की यातायात पुलिस टैक्सी चालकों के साथ अमानवीय बर्ताव कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस