राज्य ब्यूरो, कोलकाताः मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पहले शुक्रवार को भाजपा विधायकों का प्रतिनिधिमंडल व बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी शुक्रवार को दिल्ली पहुंच गए। एक तरफ जब राज्य सभा के तृणमूल सदस्य शांतनु सेन को मानसून सत्र के लिए निलंबित करने को लेकर विपक्षी हंगामा कर रहे थे तो दूसरी ओर दिल्ली पहुंचे सुवेंदु अधिकारी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक कर रहे थे। खबर है कि चुनाव बाद हिंसा को लेकर शाह को पूरी जानकारी सुवेंदु ने दी है।

बैठक के संबंध में अधिक कुछ कहने से सुवेंदु ने इन्कार कर दिया। हालांकि, यह जरूर कहा कि बंगाल में चुनाव बाद शुरू हुई हिंसा अब भी जारी है और स्थिति बहुत चिंताजनक है। मैंने गृह मंत्री से यह बातें कही है। वह इस मामले को देख रहे हैं। इसके अलावा बंगाल के बारे में और भी चर्चा हुई है, लेकिन वे उस संबंध में मीडिया को कुछ नहीं कह सकते हैं।

राज्य के भाजपा विधायकों का एक प्रतिनिधिमंडल भी सुवेंदु के साथ दिल्ली में है। वे बंगाल की विभिन्न परियोजनाओं को लेकर केंद्रीय मंत्रियों से भी मिलेंगे। इसके अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से भी मुलाकात कर चुनाव  बाद जारी हिंसा की शिकायत करने की योजना है। संसद के मानसून सत्र में शामिल होने के लिए, बंगाल के सभी भाजपा सांसद दिल्ली में हैंं और उसी क्रम में सुवेंदु भी विधायकों के साथ दिल्ली पहुंचे हैं। ममता की यात्रा से पहले राजधानी में बंगाल के भाजपा नेताओं का जमावड़ा 'महत्वपूर्ण' माना जा रहा है।

ममता ने चुनाव बाद हुई हिंसा पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की ओर से हाई कोर्ट की दी गई रिपोर्ट को 'राजनीति से प्रेरित' बताया था। यहां तक कि विधानसभा चुनाव में हार नहीं पचा पाने का भी भाजपा पर आरोप लगाया था। राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि ममता जिस तरह से केंद्रीय राजनीति में खुद को सक्रिय करने की कोशिश कर रही हैं उससे पहले बंगाल में तृणमूल कांग्रेस कर रही है उससे देश के लोगों तक भाजपा पहुंचाना चाहती है। साथ ही उपचुनाव में भी हिंसा को मुद्दा बना कर तृणमूल को घेरने की भी रणनीति है।

-----------------------

दो दिन पहले भाजपा ने बंगाल से दिल्ली तक हिंसा को लेकर दिया था धरना

इससे पहले गुरुवार को भाजपा नेताओं ने तृणमूल कांग्रेस की हिंसा के खिलाफ धरना दिया था। विरोध का नेतृत्व कोलकाता में सुवेंदु अधिकारी ने किया था तो दिल्ली के राजघाट पर भाजपा बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने किया था। भगवा खेमे का दावा है कि दो मई को चुनाव परिणाम आने के बाद से उनके 38 कार्यकर्ताओं की बंगाल में हत्या हो चुकी है।

Edited By: Vijay Kumar