राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले के हेमताबाद से भाजपा विधायक देवेंद्र नाथ रॉय की कथित तौर पर हत्या की घटना के खिलाफ प्रदेश भाजपा ने सोमवार को कोलकाता में सड़क पर उतरकर मौन जुलूस निकाला। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष की अगुवाई में प्रदेश मुख्यालय से सरदार पटेल की मूर्ति तक यह मौन जुलूस निकाला गया। इस दौरान हाथों में बैनर व पोस्टर लिए बड़ी संख्या में भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने अपने विधायक की हत्या को लेकर राज्य सरकार के खिलाफ विरोध जताया। दूसरी ओर, राज्य सरकार ने विधायक की मौत मामले की जांच सीआइडी से कराने का निर्देश दिया है। इधर, मौन जुलूस की अगुवाई कर रहे हैं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष ने इस हत्याकांड की कड़ी निंदा करते हुए सीबीआइ जांच की मांग की। उन्होंने इस घटना के प्रतिवाद में मंगलवार को 12 घंटे का उत्तर बंगाल बंद का भी एलान किया। घोष ने कहा कि सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक पूरे उत्तर बंगाल में फरक्का से लेकर कूचबिहार तक संपूर्ण बंद का हम आह्वान करते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि 15 जुलाई, बुधवार को पूरे बंगाल में हर थाने के सामने विरोध प्रदर्शन व धरना दिया जाएगा।

घोष ने दावा किया कि हमारे विधायक की हत्या की गई है। उन्होंने राज्य की कानून- व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि आज बिहार- यूपी से भी यहां की हालत बदतर हो गई है। पूरा देश बंगाल को देखकर हंस रहा है। यह पहली बार नहीं है जब इस तरह से हत्या की गई है। इससे पहले भी हमारे बहुत सारे कार्यकर्ताओं की नृशंस तरीके से हत्या की गई है। उन्होंने कहा कि विधायक की हत्या से अनुमान लगाया जा सकता है कि राज्य में किस तरह लोग दहशत में जी रहे हैं। घोष ने कहा कि हम बंगाल में गणतंत्र की रक्षा के लिए अंतिम सांस तक लड़ते रहेंगे। यदि जरूरत पड़ी तो इस मामले की जांच के लिए हम सुप्रीम कोर्ट का भी दरवाजा खटखटाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि बंगाल की जनता इसका सबक तृणमूल को सिखाएगी।

इधर, विधायक की हत्या को लेकर प्रदेश भाजपा के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ से भी मुलाकात की और उन्हें एक ज्ञापन सौंपा। उल्लेखनीय है कि भाजपा विधायक देवेंद्र नाथ राय का शव सोमवार सुबह उनके घर से करीब एक किलोमीटर दूर रस्सी से झूलता हुआ मिला। भाजपा इसे हत्या बता रही है। वहीं, पुलिस प्रथम दृष्टया इसे आत्महत्या बता रही है। उत्तर दिनाजपुर के पुलिस अधीक्षक सुमित कुमार ने कहा है कि विधायक के जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें कुछ लोगों के नामों का भी जिक्र है जिसको मौत के लिए जिम्मेदार बताया गया है। कुमार ने कहा कि जिन लोगों के नामों का उल्लेख है उसकी जांच की जा रही है। सभी एंगल से हम इस मामले की जांच कर रहे हैं।

तृणमूल विधायक बोले, उनकी पार्टी का इस घटना में कोई हाथ नहीं 

इधर, तृणमूल विधायक शीलभद्र दत्ता ने इस घटना में तृणमूल का हाथ होने से इनकार किया। उन्होंने दावा किया कि इस घटना से तृणमूल का कोई संबंध नहीं है। हालांकि उन्होंने कहा कि यह घटना क्यों हुई इसके बारे में उन्हें पता नहीं है लेकिन पुलिस को अपना काम करने देना चाहिए। कानून अपना काम करेगा और उन्होंने विश्वास जताया कि इस मामले को सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि मुझे एक साथी विधायक की मौत पर बहुत दुख है जो विधानसभा में मेरे सहयोगी थे।  

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने भी की सीबीआइ जांच की मांग

इधर, बंगाल प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने भी भाजपा विधायक की मौत पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि यदि यह हत्या है तो यह बहुत ही भयंकर है। उन्होंने भी इस घटना की सीबीआई जांच की मांग की।

मित्रा ने यह भी कहा कि देवेंद्र नाथ राय भाजपा के विधायक नहीं थे बल्कि वामो- कांग्रेस से लड़कर जीते थे। बाद में वे भाजपा में शामिल हो गए थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021