राज्य ब्यूरो, कोलकाताः बंगाल के उत्तर और दक्षिण 24 परगना में चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों में लोगों में राहत सामग्री वितरण के लिए जा रहे भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को एक बार फिर शुक्रवार को रोक दिया गया। इससे पहले भी पिछले सप्ताह दो बार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष समेत कई नेताओं को रोक दिया गया था। अब शुक्रवार को भाजपा महिला मोर्चा बंगाल इकाई की अध्यक्ष और हुगली लोकसभा सीट से सांसद लॉकेट चटर्जी को राहत सामग्री वितरण करने से रोक दिया गया है। इसके बाद सांसद व भाजपा नेता वहीं धरने पर बैठ गए।

लॉकेट चक्रवात से सर्वाधिक प्रभावित दक्षिण 24 परगना के कैनिंग में राहत सामग्री बांटने जा रही थीं, लेकिन पुलिस ने उन्हें जिले की सीमा से पहले ही रोक दिया गया। इसके बाद विरोध में लॉकेट व भाजपा के अन्य नेता व कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। तृणमूल नेताओं के इशारे पर पुलिस द्वारा उन्हें रोके जाने का लॉकेट ने आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चक्रवात पीड़ित लोग तक अब तक राहत नहीं पहुंची है। लोग बेहाल है। तृणमूल सरकार पक्षपात कर राहत सामग्री लोगों को दे रही है। जिन्हें राहत नहीं मिल रहा है उन्हें वे लोग राहत सामग्री पहुंचाने जा रही थी, लेकिन पुलिस रोक रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार सिर्फ राजनीति के लिए भाजपा नेताओं को राहत पहुंचाने से रोक रही है।

तृणमूल नेताओं और मंत्रियों को नहीं रोका जा रहा है, जबकि भाजपा नेताओं को चक्रवात प्रभावित इलाके में जाने व राहत सामग्री वितरित करने से रोका जा रहा है। पुलिस भी तृणमूल कांग्रेस के कैडर के तरह कार्य कर रही है। राज्य की मुख्यमंत्री कोरोना में भी राजनीति कर रही हैं और अब राहत सामग्री वितरण में भी राजनीति शुरू कर दी हैं। दूसरी ओर, पुलिस का कहना है कि कोरोना को लेकर राज्य सरकार के निर्देश के मद्देनजर ही सांसद को इलाके में जाने से रोका गया है, क्योंकि इससे शारीरिक दूरी का उल्लंघन होता।

Posted By: Vijay Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस