राज्य ब्यूरो, कोलकाता : चंद महीने पहले चक्रवात 'यास' ने बंगाल में भारी तबाही मचाई थी और अब बंगाल की खाड़ी से एक और तूफान उठ रहा है। इस तूफान का नाम 'गुलाब' है, जो पाकिस्तान ने रखा है। बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य से यह तूफान उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। फिलहाल यह डिप्रेशन के रूप में है और जल्द इसके चक्रवात का रूप ले लेने का अनुमान है। यह आंध्र प्रदेश और ओड़िशा के तटीय इलाकों से आकर टकराएगा। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक इसका सबसे अधिक प्रभाव ओड़िशा के गोपालपुर से आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम के बीच रहेगा चक्रवात का लैंडफाल आंध्र प्रदेश के कलिंगपटनम में हो सकता है।

एनडीआरएफ अपनी 18 टीमें ओड़िशा और आंध्रप्रदेश भेज रही

एनडीआरएफ तूफान के मद्देनजर अपनी 18 टीमें ओड़िशा और आंध्रप्रदेश भेज रही है। एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने बताया कि 13 टीमें ओड़िशा और पांच टीमें आंध्र प्रदेश भेजी जा रही हैं। ओड़िशा में बालासोर, गंजम, गजपति रायगादा, कोरापूत, नयागढ़ और मलकानगिरि जिलों में टीमें भेजी जा रही हैं जबकि आंध्र प्रदेश में विशाखापत्तनम, श्रीकाकुलम, यनम और विजयनगरम में टीमें मोर्चा संभालेंगी। वहीं नेशनल क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी ने भी शनिवार को इस प्राकृतिक आपदा से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की।

दूसरी ओर बंगाल सरकार ने चक्रवात के मद्देनजर सभी सरकारी कर्मचारियों की पांच अक्टूबर तक की छुट्टियां रद कर दी हैं। बंगाल में चक्रवात का आंध्र प्रदेश और ओड़िशा जैसा असर पड़ने की आशंका नहीं है। दक्षिण बंगाल के कुछ जिलों में भारी बारिश हो सकती है। चक्रवात और निम्न दबाव के कारण पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना में सोमवार को भारी बारिश की संभावना है।

मंगलवार को कोलकाता, पूर्व और पश्चिम मेदिनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा और हुगली जिलों में भारी बारिश (8-11 सेमी) के आसार हैं। इसी तरह बुधवार को कोलकाता, पूर्व और पश्चिम मेदिनापुर, झारग्राम, बांकुड़ा, पुरुलिया, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, हावड़ा, पूर्व और पश्चिम बर्द्धमान और हुगली जिलों में भारी बारिश की संभावना है। कुछ जगहों पर नदियों का जलस्तर बढ़ने की चेतावनी जारी की गई है। फिलहाल उत्तर बंगाल में भारी बारिश की संभावना नहीं है।

---------------

मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए कोलकाता पुलिस ने खोला कंट्रोल रूम

मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए कोलकाता पुलिस ने 'यूनिफाइड कमांड सेंटर' नाम से कंट्रोल रूम खोला है। कोलकाता पुलिस के तहत आने वाले सभी थानों और संभागों को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है। इसके अलावा एनडीआरएफ की 15 टीमों को बंगाल के तटीय क्षेत्रों में तैनात किया गया है।

 

Edited By: Vijay Kumar