जागरण संवाददाता, कोलकाता : चक्रवात बुलबुल के कारण हुई भारी बारिश का राज्य के खेत खलिहानों पर पड़े बुरे असर का प्रभाव अब सब्जी बाजारों में भी दिखने लगा है। नतीजतन, सब्जियों की कीमत आसमान छू रही और खरीदार इस बढ़ी कीमत से खासा परेशान है। साथ ही भोजन की थाली से सब्जिया गायब हो रही है। कल तक बाजार में किलो की दर से खरीदारी करने वाले लोग अब पाव में खरीदारी करने को मजबूर हैं। वहीं मंडी के सदस्यों की मानें तो चक्रवात बुलबुल के कारण खेतों में लगी सब्जी की सफल पूरी तरह से नष्ट हो गई है। जिसके कारण ही कीमत में अचानक इस तरह से उछाल आई है। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि आगे भी फिलहाल इस बढ़ी दर में कमी के कोई आसार नहीं दिख रहे हैं। इधर, सब्जियों के भाव में दो से तीन गुना की वृद्धि हुई है। मंगलवार को हावड़ा व कोलकाता की सब्जी मंडियों में आलू 20 से 21 रुपये प्रति किलो, प्याज 50 से 55 रुपये प्रति किलो, लहसुन 60 से 65 रुपये प्रति किलो, अदरक 60 से 70 रुपये, नई अदरक 40 से 50 रुपये, परवल 36 से 40, कद्दू 60 से 70 रुपये, करैला 60 से 70 रुपये, बैगन 35 से 40 रुपये, टमाटर 36 से 40 रुपये, हरी मिर्च 50 से 60 रुपये, बीट 30 से 40 रुपये, गाजर 50 से 55 रुपये, बंधा गोभी 35 से 36 रुपये, फूल गोभी, 15 से 25 रुपये प्रति पीस, बरबंट्टी 35 से 40 रुपये और पपीता 10 से 15 रुपये प्रति किलो की दर से बिके। हालांकि खुदरा बाजार में इसकी कीमत और अधिक रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस