राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में पिछले कई दिनों से कोविड-19 के मामलों में डरावनी रफ्तार से वृद्धि के बीच पिछले 24 घंटे के दौरान सोमवार को नए मामलों में कुछ गिरावट दर्ज की गई। सोमवार को राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के 19,286 नए मामले सामने आए जो कि रविवार को सामने आए मामलों से 5,001 कम थे। स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी।राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 17,74,332 हो गए। रविवार को बंगाल में सर्वाधिक 24,287 नए मामले सामने आए थे।

बुलेटिन में कहा गया कि सोमवार को कोविड-19 से 16 मरीजों की मौत भी हुई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 19,917 पर पहुंच गई। राज्य में अभी 89,194 मरीज उपचाराधीन हैं। इधर, मेडिकल विशेषज्ञों ने राज्य में कोविड नमूनों की जांच की संख्या में कमी को लेकर आगाह किया है। उनका कहना है कि नमूनों की जांच में कमी के कारण संक्रमण के नए मामलों में कमी को राहत भरा संकेत नहीं मानना चाहिए।

बंगाल में रविवार को 71,664 नमूनों की जांच की गई थी जबकि सोमवार को यह संख्या गिरकर 51,675 रही जोकि संक्रमण दर में वृद्धि को दर्शाता है। बर्द्धमान मेडिकल कालेज अस्पताल के एसोसिएट प्रोफेसर डा संजीव बंदोपाध्याय ने कहा, बंगाल में सोमवार को संक्रमण के नए मामलों की संख्या में गिरावट हमारे लिए किसी भी तरह राहत का संकेत नहीं है। आप पाएंगे कि नमूनों की जांच की संख्या में कमी के बावजूद मामलों में बढ़ोतरी हुई है। इसका साफ मतलब है कि संक्रमण दर में वृद्धि हो रही है। इसलिए, वास्तव में हालात और बिगड़ रहे हैं।

जोखिम वाले जिलों के अधिकारियों को कोविड प्रतिबंधों के सख्त अनुपालन का निर्देश

इस बीच, अधिकारियों ने बताया कि बंगाल के पांच जिलों में संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि दर्ज की गई है, जिसके मद्देनजर बंगाल सरकार ने जोखिम वाले इन जिलों के अधिकारियों से कोविड प्रतिबंधों के सख्त अनुपालन और टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने के निर्देश दिए।राज्य के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने कोलकाता, उत्तर 24 परगना, हावड़ा, हुगली और बीरभूम जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ आनलाइन बैठक कर वायरस के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर और अधिक सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। 

Edited By: Priti Jha