कोलकाता, राज्य ब्यूरो। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता और विधायकों की बदजुबानी कम नहीं हो रही है। तृणमूल विधायक व पूर्व मंत्री मदन मित्रा ने जहां मैदान पर कब्जा करने वाले की कलाई काट लेने की बात कह दी तो एक अन्य विधायक असित मजूमदार ने रविवार को प्रधानमंत्री पद की गरिमा का भी ख्याल नहीं रखा और पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ अमर्यादित शब्द का इस्तेमाल कर दिया। रविवार सुबह हुगली जिले के चुंचुड़ा से तृणमूल कांग्रेस के विधायक असित मजूमदार ने खादिना मोड़ इलाके में एक पेट्रोल पंप पर डीजल और पेट्रोल की लगातार बढ़ रही कीमतों के विरोध में प्रदर्शन किया। इस मौके पर तृणमूल कांग्रेस विधायक असित मजूमदार ने प्रधानमंत्री को लेकर अभद्र टिप्पणी की। प्रदर्शन के दौरान विधायक के साथ तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

खेल के मैदान पर किया कब्जे का प्रयास तो काट दूंगा कलाई

बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के विधायक व पूर्व मंत्री मदन मित्रा ने धमकी दी है कि उत्तर 24 परगना जिले में उनके निर्वाचन क्षेत्र में स्थित खेल के मैदान पर कब्जे का प्रयास करने वाले कथित भू-माफियाओं की कलाई काट देंगे। हालांकि विवाद बढ़ने पर विधायक मित्रा ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांग ली है।

गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक ने एक चायवाले की भूमिका निभाई और प्रतीकात्मक रूप से एक कप की कीमत 15 लाख रुपये बतायी। राज्य के पूर्व परिवहन मंत्री मदन मित्रा ने इसके जरिये तृणमूल कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के उन आरोपों की ओर इशारा किया कि नरेन्द्र मोदी के 2014 के चुनावी वादे में हर नागरिक के बैंक खाते में 15 लाख रुपये जमा होने का वादा अभी बाकी है। कामरहाटी विधायक ने कहा कि उन्होंने कोलकाता के भवानीपुर इलाके में एक कार्यक्रम में इकट्ठे हुए लोगों को मुफ्त में चाय की पेशकश की, लेकिन पैसे देने के इच्छुक लोगों के लिए एक कप की कीमत 15 लाख रुपये रखी गई, विशेष रूप से ''मोदी जी के करीबी लोगों के लिए।''

Edited By: Sachin Kumar Mishra