राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कोयला व गो तस्करी के आरोपित तृणमूल नेता विनय मिश्रा को देश वापस लाने की कोशिश तेज हो गई है। इस कड़ी में नई दिल्ली में शुक्रवार को सीबीआइ अधिकारियों की अहम बैठक हुई। इसमें कोलकाता के भी वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे।

सीबीआइ सूत्रों ने बताया कि विनय मिश्रा को देश में वापस लाने के लिए अंतिम रणनीति बना ली गई है।

विदेश मंत्रालय ने प्रशांत महासागर के वानुअतु द्वीप प्रशासन से किया संपर्क है, जहां विनय मिश्रा छिपा हुआ है। ऐसा सीबीआइ का दावा है। हालांकि सीबीआइ ने विनय मिश्रा के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए इंटरपोल से आवेदन भी किया है, लेकिन फिलहाल क्रियान्वित नहीं हुआ है। बताते चलें कि कोयला व गो तस्करी कांड सामने आने के तुरंत बाद से ही तृणमूल नेता देश छोड़कर चला गया है।

सीबीआइ का कहना है कि उसने वानुअतु द्वीप की नागरिकता भी ले ली है। इससे पहले सीबीआइ ने विनय मिश्रा को देश वापस लाने के लिए उसे गिरफ्तार नहीं करने का वादा किया था। लेकिन वह राजी नहीं हुआ। इसके बाद सीबीआइ ने उसके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया। विनय मिश्रा पर दबाव बनाने के लिए सीबीआइ ने उसके माता-पिता को तीन बार तलब कर चुकी है। लेकिन वे अभी तक एक बार भी सामने नहीं आए हैं। बताते चलें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) विनय मिश्रा की करीब 172 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुका है।

Edited By: Vijay Kumar