राज्य ब्यूरो, कोलकाता। Indian Museum Firing: बंगाल में कोलकाता के पार्क स्ट्रीट स्थित भारतीय संग्रहालय (इंडियन म्यूजियम) में ड्यूटी के दौरान अपने सर्विस राइफल से अपने सहकर्मियों पर अंधाधुंध गोली चलाने वाले सीआइएसएफ के आरोपित जवान को अदालत ने रविवार को 14 दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया। शनिवार शाम हुई इस घटना में आरोपित जवान अक्षय कुमार मिश्र की गोली से एएसआइ रंजीत सारंगी की मौत हो गई थी जबकि असिस्टेंट कमांडेंट सुबीर घोष गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घोष अस्पताल में भर्ती हैं। घोष संग्रहालय के सुरक्षा इंचार्ज हैं।

15 राउंड की थी फायरिंग

पुलिस सूत्रों के अनुसार, छुट्टी के विवाद में आरोपित जवान ने अपने सुरक्षा इंचार्ज यानी असिस्टेंट कमांडेंट को लक्ष्य कर सर्विस राइफल एके-47 से करीब 15 राउंड फायरिंग की थी। बाद में करीब डेढ़ घंटे के आपरेशन के बाद कोलकाता पुलिस के कमांडो दस्ते ने आरोपित जवान को काबू में किया था और उसे गिरफ्तार कर लिया था। इधर, आरोपित को रविवार को महानगर के बैंकशाल अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिनों के लिए 21 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। इधर, अदालत में पेशी के दौरान मीडिया के सवाल पर आरोपित जवान अक्षय मिश्र ने कहा कि छुट्टी को लेकर असिस्टेंट कमांडेंट से उसका विवाद चल रहा था। उन्होंने स्वीकार किया कि असिस्टेंट कमांडेंट घोष ही उनके निशाने पर थे।

रंजीत सारंगी के घर पसरा मातम

दूसरी ओर, इस घटना में मृत एएसआइ रंजीत सारंगी के घर में मातम पसरा हुआ है। वह मूल रूप से ओडिशा के रहने वाले थे। हालांकि वह परिवार के साथ कोलकाता के कूदघाट इलाके में ही कई वर्षों से रह रहे थे। परिवार की ओर से बताया गया कि शव के पोस्टमार्टम के बाद पार्थिव शरीर को उनके पैतृक गांव ओडिशा ले जाया जाएगा। बता दें कि गोलीबारी की यह घटना भारत के सबसे पुराने और बड़े संग्रहालय परिसर में बनी सीआइएसएफ बैरक में शनिवार शाम करीब साढ़े छह बजे घटी थी। सीआइएसएफ 2019 से इस संग्रहालय की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रहा है। 

Edited By: Sachin Kumar Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट