कोलकाता, राज्य ब्यूरो। उत्तर 24 परगना की पानीहटी नगर पालिका के आठ नंबर वार्ड के पार्षद रहे अनुपम दत्त की हत्या के मामले में आखिरकार चार्ज गठित हो गया है। शुक्रवार को बैरकपुर कोर्ट के तृतीय अतिरिक्त जिला न्यायाधीश अरूप राय की पीठ में हत्याकांड का चार्ज गठित हुआ है। दुर्गा पूजा के बाद नवंबर महीने से सुनवाई शुरू हो जाएगी।

षड्यंत्र रचने की धाराओं के तहत गठित हुआ चार्ज

हत्या के छह महीने के भीतर चार्ज गठित हुआ है। वारदात को अंजाम देने के आरोप में गिरफ्तार संजीव पंडित और जिआउल मंडल के खिलाफ हत्या और आपराधिक षड्यंत्र रचने की धाराओं के तहत चार्ज गठित हुआ है। इसके अलावा एक और आरोपिक अमित पंडित के खिलाफ आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत चार्ज गठित किया गया है।

अनुपम की गोली मारकर कर दी गई थी हत्या

इसी साल 13 मार्च को शाम के समय घर के बाहर अनुपम की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 90 दिनों के भीतर सीआइडी ने इस मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी थी। अब शुक्रवार को चार गठन के बाद 14 नवंबर से मामले का ट्रायल शुरू होगा। इसके पहले 26 सितंबर को चार्ज घटित होना था लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 28 सितंबर किया गया था। आरोपितों के अधिवक्ता सुनिश्चित करने को लेकर विवाद की वजह से दो दिन और समय लगा और अब चार्ज गठित हो चुका है।

वहीं दूसरी ओर बंगाल सरकार को शुक्रवार को एक और झटका लगा जब कलकत्ता उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने हावड़ा जिले में तृणमूल कांग्रेस के नेता तपन दत्ता की हत्या में सीबीआइ जांच पर उसी अदालत की एकल पीठ के पहले के आदेश को बरकरार रखने का फैसला किया। बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के सत्ता में आने के कुछ ही दिनों बाद छह मई, 2011 को तपन दत्ता की उनके आवास के पास हत्या कर दी गई थी। यह आरोप लगाया गया था कि दत्ता की हत्या हावड़ा के बाली में उनके आवास के पास जलाशयों के अवैध रूप से भरने के विरोध में आवाज उठाने के लिए की गई थी।

यह भी पढ़ें- TOP 10 News: पीएम ने अहमदाबाद मेट्रो रेल परियोजना का किया उद्घाटन, कांग्रेस अध्यक्ष पद का नामांकन हुआ दाखिल

यह भी पढ़ें- छुपे रूस्तम के रूप में तीसरे उम्मीदवार के तौर पर हाईकमान की पसंद बने खड़गे, कैसे बदला समीकरण..?

Edited By: Ashisha Singh Rajput

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट