कोलकाता, राज्य ब्यूरो। दादा साहब फाल्के पुरस्कार की तर्ज पर अब केंद्र सरकार ने महान फिल्मकार सत्यजित राय के नाम पर भी प्रत्येक वर्ष पुरस्कार देने का फैसला किया है। सोमवार की शाम को कोलकाता के एक पांच तारा होटल में राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम (एनएफडीसी) की ओर से आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी घोषणा की।

समारोह में बड़ी संख्या में टॉलीवुड अभिनेता, अभिनेत्री से लेकर फिल्मकार और प्रायोजक तक रहे मौजूद। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने बांग्ला फिल्म उद्योग के विकास पर भी जोर दिया। इधर सियासी गलियारे में केंद्रीय मंत्री की इस घोषणा को बंगाल विधानसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है।

माना जा रहा है कि बंगाली सेंटीमेंट को खींचने के लिए ही केंद्र ने सत्यजित राय के नाम पर पुरस्कार देने घोषणा की है। इन सबके बीच एनएफडीसी के समारोह में टॉलीवुड के सितारों की भीड़ जुटी तो अटकलों का बाजार गर्म होना लाजिमी है। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के बुलावे पर एनएफडीसी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में टॉलीवुड के दर्जनों कलाकार शामिल हुए, जिसमें कई नामचीन हस्तियां भी थीं।

समारोह में बांग्ला फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री रितुपर्णा सेनगुप्ता, पावली दाम, तनुश्री चक्रवर्ती, चूर्नी गंगोपाध्याय, अभिनेता आबीर चटर्जी, फिल्मकार अरिंदम सील व अनिक दत्त, फिल्म प्रायोजक निसपाल सिंह, फिल्म निर्माता निर्देशक गौतम घोष आदि उपस्थित थे। इनमें से कई तृणमूल कांग्रेस के करीबी माने जाते हैं और ममता सरकार की तरफ से आयोजित होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों में नियमित रूप से उपस्थित रहते हैं।

कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो, अभिनेत्री व भाजपा की राज्यसभा सदस्या रूपा गांगुली समेत अन्य मौजूद थे। गौरतलब है कि हाल में यश दासगुप्ता, रूद्रनील घोष, हिरन चटर्जी समेत टालीवुड के कई कलाकार भाजपा का झंडा थाम चुके हैं। गौरतलब है कि तृणमूल में शामिल होने वाले टालीवुड कलाकारों की पहले से ही लंबी फेहरिस्त हैं। इसमें देव, नुसरत जहां, मिमी चक्रवर्ती व शताब्दी राय के नाम उल्लेखनीय हैं। ये चारों ही तृणमूल कांग्रेस के सांसद हैं।

वैसे तो समारोह एक सरकारी बैनर के तहत आयोजित किया गया था, लेकिन यह विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महत्वपूर्ण है।

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप