गंगासागर, जागरण संवाददाता। हिंदुओं की आस्था के महापर्व मकर संक्रांति पर लगे गंगासागर मेले में आ रहे तीर्थयात्रियों के लिए स्वर्ग आश्रम भवन के द्वार खुल चुके हैं। कलकत्ता वस्त्र व्यवसायी सेवा समिति के कर्मठ पदाधिकारी व कार्यकर्ता यहां तीर्थयात्रियों की सेवा में पूरे समर्पण भाव से जुटे हुए हैं। सेवा समिति के प्रबंधक राकेश कुमार शर्मा ने बताया- 'हमारा सेवा शिविर आठ जनवरी से शुरू हुआ था और 15 जनवरी तक चलेगा।

हमारे यहां तीर्थयात्रियों के ठहरने, खाने-पीने व प्राथमिक चिकित्सा की समुचित व्यवस्था है। स्वर्ग आश्रम भवन में यूं तो 5,000 लोगों के ठहरने की व्यवस्था है लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए शारीरिक दूरी के नियम का कड़ाई से पालन करते हुए हम इस साल आधे यानी 2,500 लोगों को ही ठहरा रहे हैं।

गंगासागर में वैसे भी इस साल तीर्थयात्रियों की संख्या बहुत कम है। स्वर्ग आश्रम भवन आने वाले सभी तीर्थयात्रियों को सैनिटाइज किया जा रहा है। उन्हें मास्क भी प्रदान किए जा रहे हैं। हमारे 50 कर्मठ लोगोंकी टीम तीर्थयात्रियों की सेवा में जुटी हुई है। मेडिकल टीम में दो डाक्टर शामिल हैं।'

गौरतलब है कि सेवा शिविर का उद्घाटन बंगाल के सुंदरवन विकास मंत्री बंकिम चंद हाजरा ने किया था। उद्घाटन अवसर पर समिति के अध्यक्ष महेंद्र कुमार चौधरी, सचिव नंदकिशोर भूतडा़, उपाध्यक्ष सीताराम वर्मा, सह सचिव कमल चंद बैद, जनसंपर्क अधिकारी मनोज कुमार जैन व विवेक अग्रवाल, सदस्य सुशील कुमार मिमाणी, राम आधार प्रजापति, मुकेश कुमार गुप्ता, सुरेंद्र शर्मा, सुनीत तोदी, गोरधन सिंह राजपुरोहित, राकेश कुमार शर्मा, धर्मेश जुठानी, महेश अग्रवाल, पंकज सरला भूतडा़, कुमुद तोदी समेत अन्य उपस्थित थे। सेवा समिति के उपाध्यक्ष मुरालीलाल सराफ, संयोजक बजरंग लाल खेड़िया व राजेश कुमार गुप्ता ने बताया कि स्वर्ग आश्रम भवन में सारी व्यवस्था निश्शुल्क है। सेवा शिविर का यह 26वां साल है।

Edited By: Babita Kashyap